भोपाल मेट्रो : मुख्यमंत्री का राजधानी को सौगात
भोपाल मेट्रो : मुख्यमंत्री का राजधानी को सौगातSocial Media

भोपाल मेट्रो : मुख्यमंत्री का राजधानी को सौगात

26 माह बाद शहर में दौड़ेगी मेट्रो, 426 करोड़ रुपए से बनेंगे आठ स्टेशन। मेट्रो स्टेशन का नाम होगा रानी कमलापति। मुख्यमंत्री आज स्टेशन निर्माण कार्य का भूमिपूजन करेंगे। 10 साल पहले रखी थी मेट्रो की नींव।

भोपाल, मध्यप्रदेश। शहर में 26 माह की अवधि में मेट्रो दौड़ती नजर आएगी। मेट्रो की सुविधा दिसंबर 2023 तक नागरिकों को मिल सकती है। भोपाल मेट्रो रेल परियोजना के प्रथम चरण में लगभग सात किलोमिटर के मार्ग का कार्य करीब-करीब पूरा हो गया है। प्रथम चरण में एम्स से सुभाष नगर तक सात किलोमीटर के मार्ग में 426 करोड़ रुपए की लागत से आठ स्टेशन बनाए जाएंगे। स्टेशन निर्माण कार्य का भूमि-पूजन शुक्रवार 19 नवंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे। कार्यक्रम में प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह भी शामिल होंगे। श्री चौहान ने 10 साल पहले 20 दिसंबर 2011 को भोपाल में मेट्रो परियोजना तैयार करने के निर्देश दिए थे।

शुक्रवार को मेट्रो स्टेशन निर्माण कार्य भूमिपूजन के लिए एम्स के ठीक सामने पंडाल बनाया गया है। यहां मुख्यमंत्री श्री चौहान शाम 4.00 बजे आठ मेट्रो रेलवे स्टेशनों का भूमि-पूजन पहुचेंगे। यह आठ स्टेशन सुभाष नगर, सेंट्रल स्कूल, एमपी नगर, सरगम टॉकीज, रानी कमलापति रेलवे स्टेशन, अलकापुरी और एम्स के पास बनाए जाएंगे। सभी मेट्रो स्टेशन वर्ल्ड क्लास होंगे। इसमें यात्रियों के लिए कई तरह की सुविधाएं होंगी, जिसमें खाने-पीने सहित एटीएम, मोबाइल रिचार्ज कॉर्नर शामिल हैं। इसके अलावा सुभाष नगर में मेट्रो डिपो का निर्माण किया जाएगा। इसका कार्य जनवरी 2022 से शुरू किया जाएगा। गौरतलब है कि भोपाल मेट्रो परियोजना की कुल लागत 6941.40 करोड़ रूपए है। 10 दिसंबर 2019 में 3493.34 करोड़ रुपए मेट्रो परियोजना के लिए ईआईबी से स्वीकृत हुए थे, इससे मेट्रो लाइन और स्टेशन निर्माण कार्य शुरू किया गया है।

दस साल बाद सीएम के सपने का लगे पंख :

अब से इस साल पहले 20 दिसंबर 2011 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) को भोपाल मेट्रो के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे। परियोजना को पूर्ण करने के लिए तैयार करने में लगभग आठ हजार करोड़ खर्च बताया गया था। परियोजना की रिपोर्ट के अनुसार शहर में तीन मेट्रो लाइन बिछाई जाना है। जिनकी कुल लंबाई 27.87 किलोमीटर निर्धारित की गई थी। 2021 में प्रथम चरण का कार्य पूर्ण होने का है और अब मेट्रो स्टेशन निर्माण का भूमि-पूजन मुख्यमंत्री श्री चौहान करने जा रहे हैं।

कैसे होंगे वर्ल्ड क्लास मेट्रो स्टेशन :

  • रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को मेट्रो स्टेशन के साथ स्काई वॉक से जोड़ा जाएगा।

  • एलईडी लाइट एवं सोलर पैनल लगाए जाएंगे।

  • सेंट्रल एयर कॉनकोर्स बनांए जाएंगे।

  • अत्याधुनिक ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम होगा।

  • सुरक्षा के आधुनिक उपकरण लगाये जाएंगे।

  • वाटर हॉर्वेस्टिंग की जाएगी।

भोपाल मेट्रो परियोजना में क्या हो रहा और क्या होगा :

  • प्रथम चरण में एम्स से सुभाष नगर तक मेट्रो मार्ग का लगभग काम पूरा।

  • एम्स से सुभाष नगर, करोंद चौराहा और भदभदा चौराहे से रत्नागिरी तिराहे तक 30 किलोमीटर के दो मार्ग बनाए जा रहे हैं।

  • एम्स से सुभाष नगर मार्ग निर्माण की समय सीमा दिसंबर 2023 तक।

  • सुभाषनगर से करोंद चौराहा मार्ग तक की मई 2025 समय सीमा।

  • भदभदा चौराहे से रत्नागिरी तिराहा तक दिसंबर 2024 तक समय सीमा।

  • परियोजना को लगभग तीन चरणों में पूर्ण करने की योजना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co