Bhopal : 35 प्रतिशत स्टाफ था कालेज से नदारद, कुछ विभागों में लगे थे ताले
35 प्रतिशत स्टाफ था कालेज से नदारद, कुछ विभागों में लगे थे तालेRaj Express

Bhopal : 35 प्रतिशत स्टाफ था कालेज से नदारद, कुछ विभागों में लगे थे ताले

राजधानी के प्रतिष्ठत कालेज MLB में भोपाल, होशंगाबाद संभाग के अतिरिक्त संचालक प्रो. संजय कुमार जैन ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में पाया गया कि कालेज का 30 से 35 प्रतिशत स्टाफ कालेज नहीं पहुंचा था।

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना का प्रभाव कम होने के बाद छात्रों के भविष्य को देखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने 15 सिंतबर से कालेज खोल दिये हैं। विभाग ने बीते छ: माह से प्रोफेसरों को घर बैठ कर वेतन दिया है। लेकिन आलम यह है कि अब भी कुछ प्रोफेसर कालेज जाकर विद्यर्थियों को पढ़ाने को तैयार नहीं है। राजधानी के प्रतिष्ठत कालेज एमएलबी में भोपाल, होशंगाबाद संभाग के अतिरिक्त संचालक प्रो. संजय कुमार जैन ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में पाया गया कि कालेज का 30 से 35 प्रतिशत स्टाफ कालेज नहीं पहुंचा था। उपस्थिती के रजिस्ट्र में उक्त स्टाफ के नाम के आगे की जगह भी खाली थी। वहीं कालेज के म्यूजिक, डांस,उर्दू, संस्कृत और गणित विभाग के तो ताले तक नहीं खुले थे। वहां की स्थिति को देखकर कालेज व प्रोफेसर्स के गैरजिम्मेदाराना व्यवहार को समझा जा सकता है।

प्रतिवेदन तैयार कर शासन को भेजा जाएगा :

उच्च शिक्षा विभाग ने बीते एक सप्ताह पहले प्रदेश के सभी कालेजों को सौ प्रतिशत स्टाफ की उपस्थिति के निर्देश दिए हैं। प्रो. जैन के निरीक्षण के दौरान पाया गया कि एमएलबी कालेज के उपस्थिति रजिस्ट्रर में सिर्फ 90 प्रोफेसरों की उपस्थिति लगी हुई थी। वहीं शेष 45 प्रोफेसर कालेज से गायब होने के कारण अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं हुई थी। अब अतिरिक्त संचालक जैन उक्त प्रोफेसरों के खिलाफ प्रतिवेदन तैयार कर शासन को भेजेंगे। इसके बाद शासन उक्त प्रोफेसर और कालेज प्राचार्य निशा पल्लीवाल से नोटिस देकर जवाब तलब करेगा। कालेज के कर्मचारियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्राचार्य स्वयं भी समय पर कालेज नहीं पहुंचती हैं और स्टाफ पर भी उनके दिशा-निर्देशें को कोई असर नहीं होता है।

शासन के निर्देश पर औचक निरीक्षण :

शासन ने राज्य के सभी एडी को अपने संभाग और अग्रणी को जिलों में प्रवेश प्रक्रिया और कक्षाओं की अध्ययन व्यवस्था को देखने के लिये औचक निरीक्षण करने के लिए निर्देशित किया है। गैरहाजिर प्रोफेसरों के खिलाफ प्रतिवेदन प्रस्तुत करें जिसके बाद शासन स्तर पर प्रोफेसरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके चलते भोपाल एडी जैन ने एमएलबी कालेज में निरीक्षण किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.