Bhopal : अगस्त की बारिश का कोटा हुआ पूरा, अब सितंबर की बारिश बरसेगी

राजधानी में हुई बारिश ने जुलाई में ही अगस्त तक की वर्षा का कोटा पूरा कर दिया है और सितंबर की और कूच कर दिया है। जून, जुलाई, अगस्त मिलाकर औसत वर्षा 864.6 मिमी, रविवार शाम तक बरसा 868.1 मिमी पानी।
अगस्त की बारिश का कोटा हुआ पूरा
अगस्त की बारिश का कोटा हुआ पूराRaj Express

भोपाल, मध्यप्रदेश। राजधानी में रविवार को शाम तक हुई बारिश ने जुलाई में ही अगस्त तक की वर्षा का कोटा पूरा कर दिया और सितंबर की ओर कूच कर दिया। रविवार को भी शनिवार की तरह सावन की झड़ी लगी रही। सुबह से ही रिमझिम फुहारों का दौर शुरू हो गया और दोपहर करीब 2 बजे तक कभी हल्की तो कभी तेज बौछारें पड़ती रहीं। मौसम विभाग ने सोमवार सुबह तक भोपाल में भारी से अति भारी वर्षा होने की चेतावनी दी है। रविवार शाम 5.30 बजे तक शहर भारी वर्षा की श्रेणी में आ चुका है। रुक-रुक कर कहीं-कहीं बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मानसून के सक्रिय रहने और मौजूदा मौसम प्रणालियों के प्रदेश से होकर गुजरने की वजह से बारिश का सिलसिला लगातार जारी है। मंगलवार को दोपहर तक बीते दो दिनों की तरह बारिश होने के आसार हैं। उसके बाद वर्षा की गतिविधियों में कुछ कमी आएगी, लेकिन थमेगी नहीं। अगले चार-पांच दिन बौछारें पड़ती रहेंगी।

मौसम विज्ञानी परमेंद्र कुमार ने बताया कि तीन मौसम प्रणालियों के प्रभाव से राजधानी सहित प्रदेश में बारिश हो रही है। एक ऊपरी हवा का चक्रवात दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश पर सक्रिय हो गया है। दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। इसके अतिरिक्त मानसून ट्रफ भी गुना, सतना से होकर गुजर रही है। वर्षा का सिलसिला कल दोपहर तक जारी रहेगा। इस दौरान मध्यम से भारी वर्षा की संभावना है। एक-दो दौर तेज वर्षा के भी हो सकते हैं। उसके बाद बारिश की इंटेंसिटी कुछ कम हो जाएगी। हालांकि वर्षा का दौर फिलहाल थमेगा नहीं और अगले चार-पांच दिन बौछारें पड़ती रहेंगी। परमेंद्र ने बताया कि मानसून ट्रफ के प्रदेश या आसपास के इलाकों से गुजरने के कारण नमी मिलती रहेगी और वर्षा की गतिविधियां जारी रहेंगी।

भोपाल सिटी में भारी वर्षा दर्ज :

मौसम विभाग ने सोमवार सुबह तक राजधानी में भारी से अति भारी वर्षा की संभावना जताई है। इसी क्रम में रविवार सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक राजधानी भोपाल(बैरागढ़़ स्थित ऑब्जर्वेट्री) में 61.6 मिमी और भोपाल सिटी में (अरेरा हिल्स स्थित ऑब्जर्वेट्री) में 71.4 मिमी बारिश दर्ज की गई। उसके बाद भी बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी रहा। मौसम विभाग के मुताबिक 64.5 मिमी से 115.5 तक दर्ज वर्षा भारी वर्षा और 115.5 मिमी से 204.4 मिमी तक भारी से अति भारी वर्षा की श्रेणी में आती है। रविवार को सुबह-सुबह साढ़े आठ बजे से नौ घंटे के दरमियान भोपाल सिटी में 71.4 मिमी जो कि भारी वर्षा की श्रेणी में दर्ज हुई।

बरस चुका सीजन की बारिश का 82.5 फीसदी पानी :

इस सीजन में एक जून से लेकर रविवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक शहर में कुल 806.5 मिमी पानी बरस चुका है, जो कि सामान्य से 377.3 मिमी अधिक है। शाम 5.30 बजे तक भोपाल में 868.1 मिमी पानी बरस चुका है। पूरे सीजन की औसत वर्षा 1051.4 मिमी में से 868.8 मिमी पानी बरस चुका है। जुलाई में ही जून की कमी पूरी होने के साथ ही अब अगस्त तक की वर्षा का कोटा पूरा हो चुका है। इस हिसाब से सीजन की कुल वर्षा का 82.5 फीसदी पानी बरस चुका है, जबकि मानसून के सीजन के अभी भी करीब दो महीने शेष हैं। अब सीजन का कोटा पूरा होने के लिए 183.3 मिमी वर्षा की दरकार है।

राजधानी भोपाल की माह वार वर्षा मिलीमीटर में :

  • जून माह में औसत वर्षा 126.4 वर्ष 2022 में हुई 69.4

  • जुलाई माह में औसत वर्षा 363.8 वर्ष 2022 में हुई 798.7 (अब तक)

  • अगस्त माह में औसत वर्षा 374.4

  • सितंबर माह में औसत वर्षा 186.9

ये मौसम प्रणालियां सक्रिय :

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डॉ. ममता यादव ने बताया कि ओडिशा और उससे लगे छत्तीसगढ़ पर बना ऊपरी हवा का चक्रवात दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश पर सक्रिय है। दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। मानसून ट्रफ राजस्थान पर बने कम दबाव के क्षेत्र से लेकर जेसलमेर, कोटा, गुना, सतना, अंबिकापुर से होकर बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। इन तीन मौसम प्रणालियों के असर से सोमवार को राजधानी में रुक-रुककर वर्षा होने की संभावना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co