बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा ने फिर छोड़े बयानों के तीर
बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा ने फिर छोड़े बयानों के तीर|Social Media
मध्य प्रदेश

कोरोना से दुनिया परेशान और सरकार उसी में ढूंढ रही सांसे: मिश्रा

भोपाल, मध्यप्रदेश: राजनीतिक सियासत में फिर शुरू बयानबाजी का सिलसिला, बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा ने फिर छोड़े बयानों के तीर।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजनीतिक में आए दिन उठापटक और कई मुद्दों को लेकर नए- नए मोड़ और प्रतिक्रियाएं सामने आती जा रही हैं इन सब के बीच अक्सर अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले भाजपा नेता और पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक बार फिर कमलनाथ सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधा है। कई मुद्दों पर बोलते हुए नेता मिश्रा ने फ्लोर टेस्ट की मांग पर राज्यपाल के फैसले को सर्वोच्च मानने की बात कही है।

बीजेपी ने नहीं किया अविश्वास प्रस्ताव पास - पूर्व मंत्री मिश्रा

इस संबंध में मीडिया के सामने बात करते हुए भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि, बहुत दुःखद प्रसंग है बीते दिन सीएम कमलनाथ ने मीडिया के सामने बीजेपी द्वारा अविश्वास प्रस्ताव जारी करने की बात कही थी जो गलत है बेबुनियाद है। शत- प्रतिशत झूठ और गलत है भाजपा ने कोई अविश्वास प्रस्ताव पारित नहीं किया है। ये सरकार के भागने की कोशिश है फिलहाल हमने महामहिम के सामने अपना पक्ष रख दिया है।

कोरोना के प्रकोप में कांग्रेस ढूंढ रही है सांसे

साथ ही कहा कि, सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में कोई भी कांग्रेस नेता नहीं पहुंचा जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि, ना मुख्यमंत्री, ना विधानसभा अध्यक्ष और ना ही सरकार का नुमाइंदा सुनवाई में पहुंचा है। वकील भी पैरवी के लिए नहीं पहुंचा है। ये इस बात का संकेत देता है कि, जिस कोरोना ने दुनिया की सांसे अवरूद्ध कर रखी है उसी में कांग्रेस अपनी सांसे ढूंढ रही है।

बागी विधायकों की प्रेस कांफ्रेन्स पर बोले

इस संबंध में हाल ही में आयोजित हुई बागी विधायकों की प्रेस कांफ्रेन्स में बयान देते हुए मिश्रा ने कहा कि, पूरी कांग्रेस भाजपा पर विधायकों को बंधक बनाने की बात कर रही थी लेकिन इसका आज प्रेस कांफ्रेन्स में जवाब मिल गया है आज सब मीडिया के सामने आ गया है। विधायकों ने साफ कहा है कि, मुख्यमंत्री कमलनाथ केवल छिंदवाड़ा तक ही सीमित है। इनकी आंखे छिंदवाड़ा में ही खुलती है इनको छिंदवाड़ा और राजगढ़ की चिंता है। वहीं एक तरफ कांग्रेस ने पुत्रमोह में देश डुबा दिया है वहीं प्रदेश भी पुत्रमोह में डुबोया जा रहा है।

विधायकों को सुरक्षा कराई जाए उपलब्ध

इसके साथ ही कहा कि, सरकार को विधायकों की इतनी ही चिंता है तो वे बेंगलुरू जाए और उनके द्वारा मांगी जाने वाली सुरक्षा उपलब्ध कराए इसके लिए केंद्र को पत्र लिखना चाहिए और विधायकों को सुरक्षा देनी चाहिए। उन्होंने साफ कहा है कि, केंद्र से सुरक्षा मिलेगी तो वे भोपाल आएंगे। पूरी कांग्रेस गर्त में जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co