CAA पर इंदौर में मचा बवाल
CAA पर इंदौर में मचा बवाल|Sudha Choubey - RE
मध्य प्रदेश

CAA पर इंदौर में मचा बवाल, गृहमंत्री ने दिए जाँच के आदेश

भोपाल, मध्यप्रदेश : प्रदेश के इंदौर शहर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हुई अप्रिय घटना के मामले में गृहमंत्री ने दिए जांच के आदेश दिए।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी रहा और तो अप्रिय घटनाएं भी सामने आती रही हैं। CAA को लेकर व्यावसायिक राजधानी इंदौर में 16-17 जनवरी की मध्यरात्री में कानून को लेकर हुए जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ था जिसमें वाहनों की तोड़-फोड़ की गई थी । इस मामले पर कार्रवाई करते हुए प्रदेश के कैबिनेट गृह मंत्री बाला बच्चन ने जांच के आदेश दिए और पुलिस प्रशासन को शांति व्यवस्था कायम रखने के भी सख्त निर्देश दिए गए हैं।

कैबिनेट गृह मंत्री ने दिए आदेश :

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रदेश के कैबिनेट गृहमंत्री बाला बच्चन ने प्रशासन को आदेश देते हुए कहा है कि, मामले की विस्तृत जांच की जाए, जांच में दोषी पाए जाने वाले व्यक्तियों पर नियमानुसार कठोर कार्रवाई की जायेगी। साथ ही पुलिस प्रशासन को इस प्रकार की घटना आगे फिर ना हों, असामाजिक तत्वों को सिर उठाने का मौका न दिये जाने के संबंधी सख्त निर्देश दिए गए वहीं शांति व्यवस्था बनाए रखने की बात भी कही गई। बता दें कि एएसपी जी.पी.पराशर को तत्काल प्रभाव से हटाकर पीएचक्यू पदस्थ किया गया और इंदौर के सराफा थाना प्रभारी आरएन भदौरिया को लाइन अटैच किया गया।

कैबिनेट गृह मंत्री ने दिए आदेश
कैबिनेट गृह मंत्री ने दिए आदेश
Deepika Pal - RE

क्या था मामला :

जानकारी के मुताबिक, गत 16-17 जनवरी की दरम्यानी रात में नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ बड़वाली चौकी स्थित जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शनकारियों और पुलिसकर्मियों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था, जिसमें विवाद इतना बढ़ गया कि प्रदर्शनकारियों ने वाहनों में तोड़फोड़ कर दी और जमकर प्रदर्शन किया। जिस मामले में स्थिति को काबू में लाने के लिए पुलिस ने भारी बल का प्रयोग कर खदेड़ दिया। जिस मामले में 27 लोगों पर मामला दर्ज किया गया, वहीं शुक्रवार शाम में कांग्रेस पार्षदों और नेताओं के एक प्रतिनिधि मंडल ने डीआईजी कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधिकारियों से चर्चा की। साथ ही शुक्रवार को इंदौर में पूर्व केंद्रीय मंत्री असलम शेर खान ने भी सीएए का विरोध करते हुए इसे असंवैधानिक बताया था।

नागरिकों से की अपील :

गृह मंत्री बच्चन ने नागरिकों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील भी की है। उन्होंने पुलिस प्रशासन को किसी भी परिस्थिति के लिये मुस्तैद रहने और असामाजिक तत्वों पर पैनी निगाह बनाये रखने के निर्देश दिये हैं। राज्य सरकार का उद्देश्य है कि प्रदेश में लोकतांत्रिक मूल्यों का पालन करते हुए सभी नागरिक शांति के वातावरण में रहें। समाज के कुछ तत्व निहित स्वार्थों के कारण प्रदेश में शांति भंग करने का प्रयास करते हैं। ऐसे तत्वों से सावधान रहने और उनके प्रयासों को सफल नहीं होने देने का आग्रह नागरिकों से किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co