लॉक डाउन की स्थिति के बीच चेत्र नवरात्र शुरू
लॉक डाउन की स्थिति के बीच चेत्र नवरात्र शुरू|Social Media
मध्य प्रदेश

कोरोना कोहराम: भक्तों की श्रद्धा का हुआ लॉक डाउन

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते खतरे और लॉक डाउन की स्थिति के बीच शुरू हुआ चैत्र नवरात्र।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। दुनिया समेत देश के हर हिस्से में फैले कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं आने वाले त्योहारों पर पड़ रहा है इसका असर। इस बीच ही आज यानि बुधवार से शुरू हुए चैत्र नवरात्र के पहले दिन श्रद्धालु माता के दर्शन और पूजन के लिए नहीं पहुंचे। शहर के अधिकांश देवी मंदिरों में सुबह जल्दी घट स्थापना के बाद पट बंद कर दिए गए। वहीं बीती शाम पूजन सामग्री की दुकान नहीं खुलने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि कुछ व्यवसायियों ने घर से ही पूजन सामग्री सप्लाई की।

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के बाद जमा हुयी भीड़

बता दें कि, बीते दिन देश में कोरोना की बढ़ती संख्या और लॉक डाउन पर जनसहयोग का आग्रह करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जनता के समक्ष संबोधन दिया था, जिसमें 21 दिन के सम्पूर्ण लॉक डाउन की बात कही गई थी, बाजार में अचानक भीड़ उमड़ पड़ी। इसके बाद प्रदेश सरकार ने कहा- जरूरत के सामान की कोई दिक्कत नहीं आएगी। लेकिन, फिर भी दुकानों पर भीड़ लगी रही। लोग असावधानी पूर्वक बाजारों में निकले। सबसे ज्यादा भीड़ पुराने भोपाल के बाजारों में देखने मिली।

रोजमर्रा की चीजों की होगी आपूर्ति

इस सम्बन्ध में, शहर में लॉकडाउन और कर्फ्यू के दौरान रोजमर्रा की चीजों की आपूर्ति करने और कालाबाजारी रोकने के लिए डीआईजी शहर इरशाद वली और कलेक्टर तरुण पिथोड़े समेत पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की बीती रात को बैठक हुई। जिसमें बैठक के दौरान चर्चा कर निर्देश दिए गए हैं कि शहर में किसी भी प्रकार की कालाबाजारी न हो, किसी प्रकार के विवाद की स्थिति न बने। साथ ही लोगों को होम डिलीवरी के माध्यम से रोजमर्रा के सामानों की आपूर्ति हो पाए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co