CM चौहान ने वन और पुलिस अमले पर हुए हमले के संबंध में ली अधिकारियों की बैठक
CM चौहान ने वन और पुलिस अमले पर हुए हमले के संबंध में ली बैठकSocial Media

CM चौहान ने वन और पुलिस अमले पर हुए हमले के संबंध में ली अधिकारियों की बैठक

भोपाल, मध्यप्रदेश: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देवास और ग्वालियर में वन और पुलिस अमले पर हुए हमले के संबंध में उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में एक ओर जहां सरकार द्वारा कई योजनाओं पर कार्य जारी है वहीं दूसरी तरफ आज यानि शनिवार को मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देवास और ग्वालियर में वन और पुलिस अमले पर हुए हमले के संबंध में उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की है।

सीएम शिवराज ने मामले को लेकर कही ये बात

इस संबंध में, बैठक के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, देवास ज़िले में वनरक्षक और ग्वालियर ज़िले में पुलिस निरीक्षक पर अपराधियों द्वारा किये गए हमले की घटना बेहद दुःखद है। मैंने आज इस संबंध में वन और गृह विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर विस्तृत जानकारी प्राप्त की है। दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

माफियाओं को किसी भी स्थिति में छोड़ा नहीं जाएगा - सीएम शिवराज

इस संबंध में आगे कहा कि, मैंने अधिकारियों को दायित्व में संलग्न वन स्टाफ की आवश्यक सुरक्षा के प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए गृह, वन और राजस्व विभाग मिलकर कार्य करेंगे। अवैध उत्खनन करने वाले माफियाओं को किसी भी स्थिति में छोड़ा नहीं जाएगा। देवास में हमले में प्राण न्योछावर करने वाले वनरक्षक को शहीद के समकक्ष का दर्जा दिया जाएगा और उनके परिवार के सदस्यों को सभी आवश्यक सुविधाएँ भी दी जाएंगी। उनका परिवार अब हमारा परिवार है।

देवास और ग्वालियर जिले में माफियाओं ने किए थे हमले

इस संबंध में आपको बताते चलें कि, देवास के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सूर्यकांत शर्मा का कहना है कि पुंजापुरा वन क्षेत्र में एक छोटे तालाब के समीप से रतनपुर बीट में पदस्थ एक वनरक्षक मदनलाल वर्मा (58) का खून से लथपथ शव गुरुवार को मिला। इसके पहले कल ग्वालियर के पुरानी छावनी क्षेत्र में थाना प्रभारी सुधीर सिंह कुशवाह पर रेत माफिया से जुड़े लोगों ने ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co