सीएम शिवराज ने कोविड-19 कोर ग्रुप के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक
सीएम शिवराज ने कोविड-19 कोर ग्रुप के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठकSocial Media

सीएम शिवराज ने कोविड-19 कोर ग्रुप के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

भोपाल, मध्यप्रदेश: सीएम शिवराज ने कोविड-19 कोर ग्रुप के मंत्रीगण, अधिकारियों सहित 52 जिलों के प्रभारी और प्रभारी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

भोपाल, मध्यप्रदेश। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के मामलों में जहां गिरावट आने लगी है वही सरकार और प्रशासन संक्रमण पर रोकथाम के लिए अब भी प्रयासरत है इस बीच ही मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 कोर ग्रुप के मंत्रीगण, अधिकारियों सहित 52 जिलों के कोविड प्रभारी मंत्री और प्रभारी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

बैठक के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कही बात

इस संबंध में, प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, कोविड-19 की रोकथाम और बचाव के लिये कोविड प्रबंधन रणनीति कामयाब होती जा रही है। इसमें जन-सहभागिता की महती भूमिका है। कोरोना संक्रमण लगातार कम होता जा रहा है। जो भी गाँव और ग्राम पंचायत कोरोना संक्रमण से पूर्णतया मुक्त हो जाये, उसकी विधिवत गर्व के साथ कोरोना मुक्त होने की घोषणा जन-प्रतिनिधि या क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य करें। जिसमें 15 अगस्त तक पुरस्कार देने की भी बात कही है।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये ग्रामीणों में जागरूकता की करे अपील

इस संबंध में, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, सांसद, विधायक, जन-प्रतिनिधि, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये ग्रामीणों में जागरूकता के लिये अपील करें, इसे लेकर ग्रामीण सजग रहें। इसके अलावा कोरोना संक्रमण की प्रभावी रोकथाम के लिये अधिक से अधिक टेस्टिंग की जाने की बात भी कही। इसे पूरी तरह समाप्त करने के लिये कान्ट्रेक्ट ट्रेसिंग करें ताकि सभी कोरोना संक्रमित मरीज चिन्हित किये जा सकें।

किल-कोरोना अभियान समेत कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट होने की बात कही

इस संबंध में, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, किल-कोरोना अभियान जारी रहना चाहिए कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों की पहचान होती रहे जिससे उन्हें उचित उपचार दिया जा सके। वहीं, अब संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेट करने के स्थान पर उन्हें कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट किया जाये तथा दवा-भोजन आदि की बेहतर सुविधा दी जायें। इसके अलावा ब्लैक फंगस के इलाज के लिये सभी जरूरी चिकित्सा उपाय किये गये हैं। इंजेक्शन एवं टेबलेट उपलब्ध हैं। उन्होंने रतलाम में ब्लेक फंगस के उपचार के लिये एक वार्ड शुरू करने के निर्देश दिये। साथ ही जिलों में पॉजिटिविटी दर शून्य लाने पर जोर देने की बात कही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co