कॉलेज छात्रों के लिए उच्च शिक्षा विभाग का फैसला, रेडियो के जरिए होगी पढ़ाई

भोपाल, मध्यप्रदेश: अब कॉलेजों में भी कक्षाएं ऑनलाइन शुरू करने पर विचार किया गया है। जहां अब छात्रों को आकाशवाणी रेडियो चैनल के जरिये पढ़ाया जाएगा।
कॉलेज छात्रों के लिए उच्च शिक्षा विभाग का 
फैसला, रेडियो के जरिए होगी पढ़ाई
कॉलेज छात्रों के लिए उच्च शिक्षा विभाग का फैसलाDeepika Pal-RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी का प्रकोप जहां बढ़ते संक्रमण के साथ अब भी जारी है तो वहीं संक्रमण काल में कई क्षेत्रों में कोरोना से असर पड़ा है जिसके चलते हर काम अब ऑनलाइन तरीके से हो रहे है इस बीच स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होने के बाद अब कॉलेजों में भी कक्षाएं ऑनलाइन शुरू करने पर विचार किया गया है। जहां अब छात्रों को आकाशवाणी रेडियो चैनल के जरिये पढ़ाया जाएगा।

2 माह होगी ऑनलाइन पढ़ाई

इस संबंध में बताते चले कि, उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज के छात्रों की पढ़ाई के लिए बड़ा फैसला लिया है जिसके तहत अब कॉलेजों में 1 अक्टूबर से 30 नवंबर तक 2 माह ऑनलाइन पढ़ाई होगी। जिसमें रेडियो के माध्यम से प्रतिदिन तय समय पर तीन-तीन घंटे यूजी-पीजी कोर्स के लेक्चर होंगे। यूजी कोर्स के 3 लेक्चर 40-40 मिनट के होंगे तो वहीं पीजी कोर्स के 3 लेक्चर 30-30 मिनट के होंगे।

स्टेट यूनिवर्सिटी को सौंपा लेक्चर तैयार कराने का जिम्मा

इस संबंध में बताते चले कि, प्रदेशभर के 517 सरकारी कॉलेजों में इसी तरह पढ़ाई होगी। जहां प्रदेशभर में बीकॉम,बीए और बीएससी तथा एमकॉम, एमए और एमएससी का एक ही सिलेबस है इसलिए कॉमन लेक्चर जारी किए जाएंगे। जिसमें बता दे कि, अलग-अलग कोर्स की अलग-अलग क्लास के लेक्चर तैयार कराने का जिम्मा सभी स्टेट यूनिवर्सिटी को सौंपा है।देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी को आर्ट्स एंड कॉमर्स के पीजी कोर्स का जिम्मा सौंपा है। इन्हें छात्र मोबाइल के माध्यम से भी देख सकेंगे। वहीं बताया गया कि, समय और रेडियो चैनल नंबर अलग से जारी होगा।

स्कूलों के लिए जारी हुई गाइडलाइन

इस संबंध में बताते चले कि, उच्च शिक्षा विभाग ने स्कूलों के लिए भी ऑनलाइन पढ़ाई की गाइड लाइन जारी की है। जिसके तहत निज़ी कॉलेजों को स्कूलों की तर्ज़ पर जूम एप या गूगल मीट के जरिए ऑनलाइन क्लासेस लगाना होगी। वहीं दो महीने तक ऐसे ही पढ़ाई करवाना होगी। इसके साथ ही हर सप्ताह पढ़ाई की जानकारी अतिरिक्त संचालकों को भेजना होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co