कांग्रेस ने विरोध में मनाया 'काला दिवस'
कांग्रेस ने विरोध में मनाया 'काला दिवस'|Social Media
मध्य प्रदेश

BJP सरकार के 100 दिन हुए पूरे: कांग्रेस ने विरोध में मनाया 'काला दिवस'

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश में कोरोना संकट के दौर में कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर विरोध प्रदर्शन किया वहीं इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाया।

Deepika Pal

Deepika Pal

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना का संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है, वहीं बढ़ते संक्रमित मामलों ने चिंता और बढ़ा दी है। इसके विपरित दूसरी ओर प्रदेश की राजनीतिक सियासत में फिर से हड़कंप शुरू हो गया है जहां सोशल डिस्टेंस की परवाह किए बिना कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर विरोध प्रदर्शन किया वहीं इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाया।

राजधानी में कांग्रेस नेताओं ने विरोध में लहराए काले झंडे

इस संबंध में, बीजेपी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर जहा कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करते हुए काला दिवस मनाया वहीं राजधानी भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर कांग्रेस नेता बड़ी संख्या में धरना देकर विरोध दर्ज कराने पहुंचे। जिसमें प्रदेश के पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत कुछ बड़े नेता भी शामिल हुए। इस संबंध में कांग्रेस का कहना है कि वर्तमान सरकार की विफलताओं को भी जनता तक ले जाया जाएगा इसके अलावा कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि, पूर्व सरकार के किसान कर्ज माफी से लेकर दूसरे फैसलों में बीजेपी सरकार अडंगा लगा रही है। बता दें कि, प्रदर्शन में काले झंडे लहरा कर वहीं कई नेताओं ने काले कपड़े पहनकर विरोध जताया।

पार्टी ने ट्विटर एकाउंट पर काली रंग कर पट्‌टी लगाई

इधर, कांग्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर काली पट्‌टी लगाकर विरोध जताया है। पार्टी के ऑफिसल अकाउंट पर काली पट्‌टी पर लिखा है- 30 जून काला दिवस। इसमें भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल को बैकग्राउंड में बनाया गया है। इसके बाद सभी नेताओं ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा- मध्यप्रदेश में लोकतंत्र की हत्या के 100 दिन।इस संबंध में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि, चुनी हुई सरकार को गिराने के आज 100 दिन पूरे हो गए। सरकार गिराने के पीछे भाजपा की साजिश थी। हमने इसे लोकतंत्र की हत्या का काला दिवस मनाने का निर्णय लिया है। बता दें कि, विरोध प्रदर्शन में पार्टी के विधायक, सांसद, पूर्व सांसद और कार्यकर्ता शामिल हुए है।

एनएसयूआई ने भी जताया विरोध

इस संबंध में, प्रदेश में कांग्रेस द्वारा मनाए जा रहे काला दिवस के अवसर पर एनएसयूआई ने भी विरोध किया। उन्होंने मुख्यमंत्री और कानून व्यवस्था का पुतला फूंका। वहीं इसके अलावा मंडला में हुई एनएसयूआई पदाधिकारी सोनू परोचिया की निर्मम हत्या का विरोध भी किया। इसमें प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी ने कहा कि शिवराज सरकार द्वारा लोकतंत्र की हत्या के 100 दिन पूर्ण हो चुके हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co