मास्क और सैनेटाईजर को लेकर हो रही है कालाबाजारी।
मास्क और सैनेटाईजर को लेकर हो रही है कालाबाजारी।|Social Media
मध्य प्रदेश

COVID-19 का प्रकोप जारी: कालाबाजारी और व्यापार पर काट रहे चांदी

मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने किया अलर्ट तो वहीं मास्क और सैनेटाईजर को लेकर हो रही है कालाबाजारी।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर में कोरोना वायरस के कहर के बाद देश में भी वायरस ने अपनी पैंठ बना ली है जिसे लेकर मध्य प्रदेश में होली के त्यौहार को देखते हुए जहां अलर्ट जारी हुआ है तो वहीं इन सब अलर्ट पर भ्रष्टाचारी लगा रहे हैं सेंध। इसके चलते ही कम कीमत मेंं मिलने वाले मास्क और हैण्ड सैनेटाईजर को कई गुना कीमत में बेच रहे हैं। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद मध्यप्रदेश सरकार ने कोरोना को लेकर एडवाइजरी जारी की है।

10 गुना ज्यादा वसूल रहे हैं कीमत

जहां कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने सावधानी के नजरिए से मास्क और हैंड सैनेटाइजर का प्रयोग करने के लिए कहा है वहीं आवश्यक सलाह भी जारी की गई। इसके बावजूद भी इन उत्पादों की बिक्री में कालाबाजारी होने की खबरें सामने आ रही है जहां दवा व्यापारी इन उत्पादों को सही कीमत पर बेचने की बात कर रहे है वहीं 5 रुपए का मास्क 20 में; 30 वाला बेच रहे 300 में बिकने का खुलासा सामने आया है। इस संबंध में कंट्रोलर रवींद्र सिंह ने बताया कि, दवा व्यापारियों को निर्देश दिए हैं कि वे तय कीमत पर ही दवाएं और मास्क बेचें ऐसा ना होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी भोपाल में नॉर्मल मास्क रोजाना 1500 और एन-95 मास्क 500 की सप्लाई हो रही है। जिसे लेकर हाल ही में नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए मास्क और हैण्ड सैनेटाइजर उत्पादकों एवं विक्रेता संगठनों के साथ बैठक कर निर्देश दिए थे कि, एक व्यक्ति को एक से ज्यादा उत्पाद बड़ी मात्री में नहीं बेचा जाए।

होली के भव्य आयोजन पर नजर

आगामी होली के अवसर को देखते हुए, प्रशासन ने सख्त निर्देशों के तहत संस्था और सहभागिता से होने वाले आयोजन करवाने के लिए मना कर दिया है। जहां किसी भी होटल, रेस्टोरेंट, गेस्ट हाउस में आयोजन आयोजित ना करने की सलाह दी गई है। साथ ही इन कार्यक्रमों में शामिल होने आने वाले यात्रियों की सूचना कंट्रोल रूम को देने के लिए कहा गया है।

कार्यरत डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द :

कोरोनावायरस को लेकर जिले में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। सिविल सर्जन ने जिला अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां आगामी आदेश तक निरस्त कर दी हैं। अस्पताल की ओपीडी और आईपीडी में आने वाले मरीजों के इलाज में विभाग द्वारा विशेष सावधानी बरती जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co