दो महीने में भी नहीं हटाया भारत टॉकीज ब्रिज का मलबा
दो महीने में भी नहीं हटाया भारत टॉकीज ब्रिज का मलबाAtiq Khan - RE

Bhopal : दो महीने में भी नहीं हटाया भारत टॉकीज ब्रिज का मलबा

भोपाल, मध्यप्रदेश : 900 मीटर के ब्रिज पर खर्च होने हैं 3 करोड़, रोज रात में एक घंटा होता है काम। एक घंटे में जितना मटेरियल निकलता है, उसे साफ करने में पूरी रात हो जाती है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारत टॉकीज ब्रिज के उपरी रोड पर बीते दो महीने से काम चल रहा है। पीडब्ल्यूडी यहां सड़क पर बिछे डामर को उखाड़ रहा है। ताकि ब्रिज का वजन कम किया जा सके। इसके बाद इस पर नए डामर की परत चढ़ाई जाएगी। लेकिन काम की रफ्तार का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि रोज रात में सिर्फ एक घंटा सड़क की खुदाई हो रही है। एक घंटे में जितना मटेरियल निकलता है, उसे साफ करने में पूरी रात हो जाती है। अगली सुबह से दिनभर यहां जाम लगा रहता है और उड़ती धूल के बीच वाहन चालक फंसे नजर आते हैं।

दरअसल 48 साल पुराने भारत टॉकीज ब्रिज की मरम्मत चल रही है। इस पर पीडब्ल्यूडी करीब 3 करोड़ रूपए खर्च करेगा। बरसात के बाद इसका काम शुरू हुआ, जो अब तक सिर्फ 30 से 40 प्रतिशत ही हो सका है। पहले चरण में ब्रिज पर बिछे डामर को उखाड़ा जा रहा है। यहां हर दिन रात के समय एक ट्रेक्टर से रोड कटिंग होती है। ठेकेदार के मुताबिक सालों से जमीं डामर को निकालने में समय लग रहा है। इससे ब्रिज का लौड कम होगा। नई सड़क बनने के बाद ब्रिज की लाईफ बढ़ जाएगी। सबसे पहले संगम टॉकीज से रेल्वे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक की तरफ जाने वाली रोड की डामर को हटाया गया है। इसमें भी शुरूआत के 200 मीटर से डामर अब तक नहीं निकाला जा सका है।

रोज ही लग रहा जाम :

ब्रिज की मरम्मत के कारण यहां रास्ता सकरा हो गया है। इस कारण यहां दिनभर जाम लगा रहता है। ऐसे में अगर कोई बड़ा वाहन ब्रिज पर चढ़ जाए तो यह जाम लंबा हो जाता है। वहीं डामर हटाने के बाद सड़क पर धूल उड़ रही है। धूल भी कोई ऐसी-वैसी नहीं, जब धूल उड़ती है तो आगे का रास्ता दिखना बंद हो जाता है।

नए साल तक ऐसे ही होना पड़ेगा परेशान :

ब्रिज की रोड कटिंग करने वाले ठेकेदार के कर्मचारी के मुताबिक पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने काम धीमी गति से ही करने को कहा है। ठेकेदार के कर्मचारी ने बताया कि अगले साल चुनाव होने वाले हैं। इसको देखते हुए यहां बड़ा राजनीतिक कार्यक्रम होगा। इसलिए काम धीमी गति से ही करने के लिए कहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co