गौशाला वाली कमान में दिखी नशे की तस्करी, अब सवाल ये-कैसे पहुंचा जेल में नशा

भोपाल, मध्यप्रदेश : भोपाल में कल शाम 6 बजे गौशाला वाली कमान में नशे की तस्करी दिखी है, अब सवाल प्रहरी महाराज सिंह के होते हुए कमान बंदियों तक कैसे पहुंचा जेल में प्रतिबंधित नशा।
गौशाला वाली कमान में दिखी नशे की तस्करी, अब सवाल ये-कैसे पहुंचा जेल में नशा
गौशाला वाली कमान में दिखी नशे की तस्करीSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कल शाम 6 बजे गौशाला वाली कमान में नशे की तस्करी दिखी है। बता दें कि गौशाला कमान प्रहरी महाराज सिंह ले जाता है, इस बीच गौशाला वाली कमान में नशे की तस्करी दिखने से सवाल खड़ा होता है कि इस काम में क्या गौशाला कमान प्रहरी महाराज सिंह और जेल के मेन गेट तलाशी में लगे प्रहरी ईश्वर राय की मिली भगत से सलाखों के अंदर 21 पैकेट-जर्दा और चरस पहुंचा है।

उठे यह सवाल-

  • अब सवाल प्रहरी महाराज सिंह के होते हुए कमान बंदियों तक कैसे पहुंचा जेल में प्रतिबंधित नशा,

  • दूसरा बड़ा सवाल मेन गेट तलाशी के बाद अंदर ब-खंड तक कैसे सामान पहुंचा,

  • ब-खंड तलाशी पर पकड़ाया था कमान बंदियो से यह नशीला सामान,

  • जेल के अफसर अब दबी जुबान नशे की तस्करी को दबाने में जुटे।

बता दें कि ब-खंड तलाशी पर कमान बंदियों से यह नशीला सामान पकड़ाया था, जेल के अफसर अब दबी जुबान नशे की तस्करी को दबाने में जुटे हैं। मेन गेट ड्यूटी पर जो प्रहरी ईश्वर राय है वह पिछले 2 साल से सागर जिला जेल से भोपाल सेंट्रल जेल पर अटेचमेंट चल रहा है। भोपाल जेल अफसरों को प्रहरी ईश्वर राय से ऐसा अटेचमेंट कि अभी कुछ दिन पहले जेल डीजी ने mp की सभी जेलों के अटेचमेंट खत्म किए, बाबजूद इसके प्रहरी ईश्वर राय को सागर के लिए नहीं उतारा।

कुछ ऐसा ही किस्सा ग्वालियर सेंट्रल जेल पर है यहां प्रहरी देवेंद्र शर्मा पिछले डेढ़ साल से अटेचमेंट पर, उसको भी डीजी के आदेश को ठेंगा, जेल डीजी का दावा रहा कि अब कड़ी सख्ती तो अब इतनी सख्ती के बीच मेन गेट तलाशी पर प्रतिबंधित सामान नहीं पकड़ा जा सका तो सिमी जेल ब्रेक होने से पहले सामान कैसे अंदर जाता होगा, इस मुद्दा सोच-विचारणीय है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co