MP में एक बार फिर बदला मौसम, शीतलहर के कारण 31 दिसंबर की रात रहेगी सर्द
MP में एक बार फिर बदला मौसमSocial Media

MP में एक बार फिर बदला मौसम, शीतलहर के कारण 31 दिसंबर की रात रहेगी सर्द

भोपाल, मध्यप्रदेश: जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी के कारण मध्यप्रदेश में 29 दिसंबर से शीत लहर की शुरूआत होने की संभावना जताई जा रही है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी कोरोना का संकट जहां साल के अंत के साथ कभी कम तो कभी ज्यादा होता जा रहा है वहीं प्रदेश में मौसम की स्थिति में भी बदलाव की स्थिति बन रही है इस बीच ही मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार उत्तर भारत के हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी के कारण मध्यप्रदेश में 29 दिसंबर से शीत लहर की शुरूआत होने की संभावना जताई जा रही है।

मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान

इस संबंध में, प्रदेश के मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के अनुसार जानकारी देते हुए मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी और उत्तर से तेज हवाएं लगातार आ रही हैं। जिसके चलते बीते दिन रविवार के प्रदेश भर में रात का तापमान सामान्य से नीचे आया है। जिसके प्रभाव से प्रदेश में फिर से शीतलहर की शुरूआत हो जाएगी। वहीं पूर्वी मध्य प्रदेश में यह 30 और 31 को प्रभाव डालेगी। खास बात यह भी है कि, शीतलहर के कारण 31 दिसंबर की रात सर्द रहेगी। जहां इसका असर 2 से 3 जनवरी तक रहेगा। यहां हम कोल्ड वेव यानि की ठंडी हवाओं की बात करें तो अगर तापमान 4 डिग्री से ज्यादा गिरता है, तो उसे कोल्ड वेव कहते हैं, जबकि पारा 6.5 डिग्री से ज्यादा नीचे आता है, तो उसे सीवियर कोल्ड वेव कहा जाता है।

राजधानी समेत प्रदेश के कई जिलों में मौसम की स्थिति

इस संबंध में राजधानी भोपाल के अलावा प्रदेश के कई जिलों की मौसम की स्थिति को लेकर बात करें तो भोपाल के साथ ही धार, गुना, इंदौर, खंडवा, खरगोन, रतलाम और शाजापुर में रात का पारा 3 डिग्री से भी ज्यादा लुढ़क गया, जबकि पूर्वी मध्य प्रदेश के रीवा, सागर और सिवनी में रात का पारा सामान्य से नीचे आया। इसके अलावा शेष पूर्वी मध्य प्रदेश छिंदवाड़ा, दमोह, जबलपुर, खजुराहो, मंडला, नरसिंहगढ़, नौगांव, सतना, सीधी, टीकमगढ़ और उमरिया में रात का पारा 4 डिग्री से भी ज्यादा बढ़ गया है। साथ ही ठंड के तापमान को लेकर बात की जाए तो पारे में उतार- चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है वहीं शीतलहर के चलने से प्रदेश में भी बर्फीली प्रदेशों के वातावरण का अहसास महसूस होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co