मप्र में पहली बार बंदियों के लिए ई-मुलाकात सुविधा
मप्र में पहली बार बंदियों के लिए ई-मुलाकात सुविधा|Deepika Pal-RE
मध्य प्रदेश

मप्र में पहली बार बंदियों के लिए ई-मुलाकात सुविधा:अब होगी फेस-टू-फेस बात

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश की जेलों में पहली बार बंदियों के लिए वीडियो कॉलिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जिसे वर्चुअल या ई मुलाकात का नाम दिया गया है।

Deepika Pal

Deepika Pal

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में व्याप्त महामारी कोरोना का संकट जहां बीते 4-5 महीने से थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं दूसरी तरफ इस संकट के माहौल में लोगों को रियायत देने के लिए सरकार द्वारा नई पहल के साथ सुविधाएं दी जा रही है, इस बीच ही प्रदेश की जेलों में पहली बार बंदियों के लिए वीडियो कॉलिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जिसे वर्चुअल या ई मुलाकात का नाम दिया गया है। जिसकी शुरूआत करते हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने फोन से एक बंदी की मां से उनकी बात कराई।

सुविधा की दी थी पहले जानकारी

इस संबंध में, प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने तकरीबन 15 दिन पहले प्रदेश की जेलों में बंद सभी कैदियों को अपने परिजनों से बात करने के लिए वीडियो कॉल की सुविधा उपलब्ध कराई जाने की बात कही थी। जिस पर अमल करते हुए आज शुक्रवार से इस सुविधा की शुरुआत की है। साथ ही इम्यूनिटी सिस्टम दुरुस्त करने के लिए काढ़े के सेवन पर भी जोर दिया था।

बंदी बेटे से बात कर झलक गए मां की आंख से आंसू

इस संबंध में, आपको बताते चले कि,गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपने फोन से इस वीडियो कॉल सुविधा का शुभारंभ करते हुए एक कैदी की मां से उनकी बात कराई। जहां बेटे का चेहरा और आवाज सुनते ही मां रोने लगी। बार-बार बेटे से पूछ रही थी कैसे हो। बेटा भी मां को दिलासा दिलाते हुए कह रहा था- सब ठीक है। इसी तरह अन्य बंदियों के परिजनों ने भी अपने परिजनों से फेस-टू-फेस बात की। आपको बता दें कि सरकार के आदेश के अनुसार जेल में बंदियों से मुलाकात पर 31 अगस्त तक प्रतिबंध लगा हुआ है।

इस तरीके से कर सकेंगे बंदियों से बात

इस संबंध में, बता दे कि,जेलों में बंदियों की जानकारी को भारत सरकार के एनआईसी के ई-प्रिंट सॉफ्टवेयर के माध्यम से कंप्यूटर में अपलोड किया जाता है। जहां इस सॉफ्टवेयर में ई-मुलाकात व्यवस्था का प्रावधान है। इस ई-मुलाकात व्यवस्था के अंतर्गत बंदियों के परिजन www.e-prisons.nic.in वेबसाइट के माध्यम से बंदियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुलाकात करने के लिए आवेदन दे सकते हैं। उनके ई-मुलाकात के आवेदन जेल अधीक्षक द्वारा स्वीकृत होने पर बंदी के परिजन अपने घर से ही एक स्मार्ट फोन/ डेस्कटॉप/ टेब के माध्यम से अथवा किसी mponline सेंटर से, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बंदी से ई-मुलाकात कर उनका वीडियो देख सकेंगे एवं उनसे बात कर सकेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co