भोपाल: खाद्य विभाग की टीम ने 'नकली घी' बनाने वाली फैक्ट्री पर मारा छापा

भोपाल, मध्यप्रदेश : दीपावली के पहले भोपाल के हनुमानगंज थाना क्षेत्र स्थित एक नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री पर जिला प्रशासन एवं खाद्य विभाग ने छापेमार कार्रवाई की।
भोपाल: खाद्य विभाग की टीम ने 'नकली घी' बनाने वाली फैक्ट्री पर मारा छापा
नकली घी बनाने बनाने वाली फैक्ट्री पर मारा छापाSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में जहां घातक कोरोना की चपेट में आने से तेजी से मामले बढ़ रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ खाद्य सामग्री में निरंतर मिलावट कर लोगों की सेहत से खिलवाड़ किया जा रहा है, शहर में बेखौफ खाद्य सामग्री में मिलावट खोरी का धंधा जोरों पर चल रहा है। बता दें कि सरकार के इतने सख्त रवैया के बावजूद नकली घी बनाने का मामला भोपाल से सामने आया है, खाद्य विभाग की टीम ने राजधानी भोपाल के हनुमानगंज थाना क्षेत्र में बड़ी कार्रवाई करते हुए नकली घी बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है।

नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री पर रेड :

मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के हनुमानगंज थाना क्षेत्र स्थित एक नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री पर जिला प्रशासन एवं खाद्य विभाग ने छापे की कार्रवाई की, जिसमें नकली घी के साथ इसे बनाने में इस्तेमाल होने वाली अन्य सामग्री बरामद की गयी है, जिसमें 400 किलोग्राम नकली घी, अट्ठारह सौ किलो वनस्पति घी, 40 तेल के केन और एसेंस की बोतल, आठ प्रकार के ब्रांड के डब्बे भी बरामद हुए हैं।

एसडीएम सिटी जमील खान ने बताया-

अनुविभागीय दंडाधिकारी (एसडीएम) सिटी जमील खान ने बताया कि क्षेत्र में लगातार नकली की सप्लाई की सूचना प्राप्त हो रही थी, जिसके बाद कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर छापामार कार्रवाई में तहसीलदार, खाद्य सुरक्षा विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने संयुक्त कार्रवाई की। इस फैक्ट्री का मालिक शंकर बत्र है, जो नकली घी बनाने का काम विगत कई दिनों से कर रहा था। कलेक्टर लवानिया और डीआईजी इरशाद वली भी मौके पर पहुंचे और निरीक्षण के बाद कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर लवानिया ने कहा-

भोपाल के कलेक्टर लवानिया ने कहा कि जिले में कहीं भी अशुद्ध सामग्री का विक्रय और बनाने को पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है। इस मामले में हनुमानगंज थाना क्षेत्र में छापामार कार्रवाई की गई है, जिसमें नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ाई है। फैक्ट्री संचालकों के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज की जा रही है। फैक्ट्री में आठ विभिन्न प्रकार के घी के डब्बे भी मिले हैं, जिनमें विभिन्न नामों से नकली घी बनाकर बेचा जा रहा था। नकली घी बनाने की फैक्ट्री जो शंकर लाल बत्र के आधिपत्य में चलाई जा रही थी के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है अलग अलग प्रकार के सोया आयल एवं घी के एसेंस को मिलाकर नकली घी बनाया जा रहा था।

5 नवम्बर को शिवराज ने त्यौहारी मौसम को देखते हुए निर्देश जारी किए थे कि प्रदेश में दूध और दूध से बनी सामग्री मिठाई और अन्य खाद्य सामग्रियों की निरन्तर जांच की जाये, प्रदेश में हर प्रकार की मिलावटी सामग्री के निर्माण एवं विक्रय की रोकथाम के लिए सघन अभियान चलाया जाएगा, जिससे जनता को उपयोग के लिए शुद्ध सामग्री उपलब्ध हो सके, मिलावटखोरों के मन में खौफ हो और वे मिलावट न करें, जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co