किसान आंदोलन के 6 माह होने पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट के जरिए दिया बयान
किसान आंदोलन के 6 माह होने पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट के जरिए दिया बयानSyed Dabeer Hussain - RE

किसान आंदोलन के 6 माह होने पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट के जरिए दिया बयान

भोपाल, मध्यप्रदेश: आज 26 मई को नए कृषि कानून के विरोध में शुरू हुए किसान आंदोलन के 6 महीने बीतने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर बात कही है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। देश और प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के संकट का दौर जहां जारी है वहीं दूसरी तरफ संकटकाल के दौर में आज 26 मई को नए कृषि कानून के विरोध में शुरू हुए किसान आंदोलन के 6 महीने बीतने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर बात कही है।

पूर्व सीएम कमलनाथ ने किसान आंदोलन को लेकर कही ये बात

इस संबंध में, पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट के जरिए लिखा कि, हमारे किसान भाइयों को अपने हक़ की माँग व तीन काले क़ानूनों के विरोध में आंदोलन करते पूरे 6 माह हो गये हैं। इतिहास में पहली बार है कि देश का अन्नदाता अपने हक़ के लिये इतने लंबे समय तक सड़कों पर बैठा रहे और उसकी सुनवाई तक न हो। क़रीब 700 किसान भाइयों की इस आंदोलन में शहादत हुई है।

किसानों के साथ न्याय नहीं कर रही है केंद्र सरकार - पूर्व सीएम नाथ

इस संबंध में आगे पूर्व सीएम नाथ ने कहा कि, निष्ठुर , अहंकारी केन्द्र सरकार किसानों को न्याय प्रदान करने की बजाय आज भी उनका दमन कर रही है। किसानो की आय दोगुनी करने का वादा करने वालों ने खाद- बीज- डीज़ल की क़ीमतों में वृद्धि कर किसानों की लागत दोगुनी कर दी है। किसान हित में ये तीनों काले क़ानून रद्द किये जावे व किसानों की सारी माँगों को माना जावे। हम किसान भाइयों के हर संघर्ष में उनके साथ है।

आज़ाद भारत का सबसे बड़ा आंदोलन है किसान आंदोलन

इस संबंध में बताते चलें कि, आज 26 मई को तीनों नए कृषि कानून को लेकर किसानों का आंदोलन अनवरत जारी है जिसके 6 महीने हो गए हैं। बीते छह महीने के अरसे में किसानों ने सड़कों पर लगे तंबुओं और ट्रॉलियों को अपना घर बना लिया है, ये आज़ाद भारत का सबसे बड़ा और लंबा किसान आंदोलन है। बताते चलें कि, कृषि कानूनों के खिलाफ़ किसानों का ये आंदोलन सितंबर, 2020 से ही पंजाब और हरियाणा में जारी था लेकिन जब किसानों को लगा कि उनकी बात दिल्ली तक नहीं पहुंच पा रही तो नवंबर के आख़िर में किसान दिल्ली के अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए खंबे गाड़ दिए। बता दें कि, यह आंदोलन 26 नवंबर 2020 से शुरू हुआ था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co