Raj Express
www.rajexpress.co
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार देगी मोबाइल फोन
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार देगी मोबाइल फोन|Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

भोपाल: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकार देगी मोबाइल फोन

भोपाल, मध्यप्रदेश : पिछली सरकार के अधूरे कार्य को पूरा करने के लिए सरकार ने लिया फैसला, जिसके तहत 69,218 कार्यकर्ताओं को दिए जाएगे मोबाइल फोन।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी में प्रदेश सरकार पिछली सरकार के अधूरे कार्य को पूरा करने जा रही है जिसमें योजना के तहत प्रदेश की 69 हजार 218 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन दिया जाएगा। जिसकी टेंडर प्रक्रिया लघु उद्योग निगम(LUN)के माध्यम से शुरू की जा चुकी है।

पिछली सरकार के कार्यकाल में शुरू हुई थी योजना :

बता दें कि, प्रदेश के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए यह योजना पिछली शिवराज सरकार के कार्यकाल के दौरान शुरू हुई थी जिसमें योजना के तहत पहले चरण में 27 हजार 817 कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन बांटे जा चुके थे। प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने और कांग्रेस की सरकार आने से यह योजना अधूरी रह गई थी। जिसे पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा दूसरे चरण के तहत बाकी बचे 69,218 कार्यकर्ताओं को मोबाइल देगी। यह मोबाइल फोन 10 हजार रु. की कीमत और माइक्रोमैक्स या कार्बन कंपनी के होंगे।

मोबाइल फोन से कामकाम में आया सुधार :

इस संबंध में विभाग ने दावा करते हुए कहा है कि, कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन की सुविधा देने से आंगनबाड़ियों के कार्यों और मॉनिटरिग करने में फायदा मिला, दूसरी तरफ जिन कार्यकर्ताओं को मोबाइल फोन नहीं मिल सके उन्हें लगातार मॉनिटरिंग करने में कठिनाई आ रही थी। जिसे देखते हुए योजना के तहत मोबाइल फोन दिए जा रहे हैं।

बता दें कि, केन्द्र सरकार द्वारा देशभर की आंगनबाड़ियों को जियो टैग करने और कार्यकर्ताओं को स्मार्ट फोन देने के निर्देश दिए जा चुके हैं जिसका उपयोग कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बच्चों को डिजिटल शिक्षा से अवगत करा सकेगें।

कुपोषण के स्तर को कम करने के किए जाएंगे प्रयास :

प्रदेश में लगभग 43 लाख बच्चें अतिकुपोषण की समस्या से ग्रसित हैं, जिससे निपटने के लिए विभाग द्वारा यो़जना के तहत प्रयास किए जा रहे हैं। जिसके तहत प्रदेश के 36 जिलों की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को योजना का लाभ दिया जाएगा ताकि, आंगनबाड़ियों के कार्यो में सुधार हो सके जिसके तहत शिकायतें सामने आ रही थी कि, आंगनबाड़ियाँ समय पर नहीं खुल रही हैं और ना ही मॉनिटरिंग लगातार हो रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।