8 मई को भव्य स्तर पर मनाया जाएगा लाड़ली लक्ष्मी उत्सव, सीएम शिवराज करेंगे शुभारंभ
8 मई को लाड़ली लक्ष्मी उत्सवPriyanka Yadav-RE

8 मई को भव्य स्तर पर मनाया जाएगा लाड़ली लक्ष्मी उत्सव, सीएम शिवराज करेंगे शुभारंभ

भोपाल, मध्यप्रदेश। 8 मई को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लाड़ली लक्ष्मी उत्सव में लाड़ली लक्ष्मी योजना- 2.0 का शुभारंभ करेंगे।

भोपाल, मध्यप्रदेश। लाड़ली लक्ष्मी उत्सव दो मई से 11 मई तक मनाया जा रहा है।लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का राज्य स्तरीय कार्यक्रम 8 मई को लाल परेड ग्राउन्ड भोपाल में आयोजित किया जाएगा, कल रविवार 8 मई को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लाड़ली लक्ष्मी उत्सव में लाड़ली लक्ष्मी योजना- 2.0 का शुभारंभ करेंगे।

लाल परेड ग्राउंड में शाम को होगा लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम :

मिली जानकारी के मुताबिक, लाल परेड ग्राउंड में शाम को लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का राज्य स्तरीय कार्यक्रम होगा। इसमें लगभग 7,500 लाड़ली लक्ष्मी बेटियां उपस्थित रहेंगी। साथ ही सभी जिले, विकासखंड, ग्राम पंचायत और नगरीय निकायों से भी लाड़ली बेटियां और जन-प्रतिनिधि वचरुअली से जुड़ेंगे। मुख्यमंत्री लाड़ली बेटियों से सतत् संवाद स्थापित किए जाने के लिए लाड़ली ई-सवांद एप का लोकार्पण भी करेंगे। इस संवाद एप में सभी बेटियों को समग्र आई.डी. के माध्यम से शिक्षा पोर्टल से जोड़ा जाएगा, जिससे उनकी शैक्षणिक स्थिति की निरंतर ट्रैकिंग हो सकेगी। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण विभिन्न संचार माध्यमों से किया जाएगा।

बता दें, लाड़ली लक्ष्मी योजना-2.0 में बेटियों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित कर उन्हें आत्म-निर्भर बनाने के लिये अभिनव पहल की गई है। योजना में बेटियों का आत्म-विश्वास बढ़ाने, आर्थिक सशक्तीकरण, कौशल संवर्धन और उनके पोषण स्वास्थ्य एवं शिक्षा के साथ उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों को सम्मानित करने का निर्णय भी लिया गया है। मध्यप्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना में अप्रैल 2022 तक 42 लाख, 4 हज़ार 650 बालिकाओं को पंजीकृत किया जा चुका है। अब तक 9 लाख से अधिक बालिकाओं को 231 करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति राशि का भुगतान किया जा चुका है। प्रदेश में जन्म लिंगानुपात बढ़कर 927 से 956 हो गया है। योजना लागू होने बाद समाज का बेटियों के प्रति दृष्टिकोण बदला है, जिससे बाल विवाह जैसी कुप्रथा को समाप्त करने में आशातीत सफलता भी मिली है।

अपनी बेटियों को दें खुला आसमान, साथ ही समान अधिकार व सम्मान

बैठक में आज सीएम ने लाड़ली लक्ष्मी उत्सव की तैयारियों की रूपरेखा के संबंध में की चर्चा :

आज बैठक में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ 8 मई को होने वाले लाड़ली लक्ष्मी उत्सव की तैयारियों की रूपरेखा के संबंध में चर्चा की एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना

  • लाड़ली लक्ष्मी का अर्थ है- बड़ा लक्ष्य तय करना, आत्म-विश्वास से भरे रहना और जो निश्चय किया है उस पर दृढ़ रहना।

  • प्रदेश में लागू लाड़ली लक्ष्मी योजना के सफल क्रियान्वयन के परिणामस्वरूप आज प्रदेश में 42 लाख से अधिक लाड़ली बेटियां हैं। मध्यप्रदेश की इस योजना को कई राज्यों ने भी अपनाया है।

  • बेटियां अभिमान हैं, ईश्वर का वरदान हैं, बेटी जैसा न कोई दूजा, बेटियां हैं, तो सारा जहां है। आज मेरी लाड़ली लक्ष्मी बेटियां इतनी बड़ी हो गई हैं। भगवान इन पर कृपा बनाए रखें, आशीर्वाद की वर्षा करें।

  • वर्ष 2012 में मध्यप्रदेश में लिंगानुपात 1000 पुरुष पर 927 महिला का था, जो आज बढ़ कर 956 पहुंच गया है, 15 वर्षों में 42 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी बेटियां हुईं लाभान्वित।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.