Bhopal : सीएम हाउस में तीन घंटे चली बैठक, आज दिल्ली जाएंगे शिवराज
ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल हुए बैठक मेंSocial Media

Bhopal : सीएम हाउस में तीन घंटे चली बैठक, आज दिल्ली जाएंगे शिवराज

भोपाल, मध्यप्रदेश : रविवार को सीएम हाउस में सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के बीच महापौर प्रत्याशियों को लेकर लंबा विचार मंथन का दौर चला।

भोपाल, मध्यप्रदेश। रविवार को दोपहर सीएम हाउस में सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के बीच महापौर प्रत्याशियों को लेकर लंबा विचार मंथन का दौर चला। ये बैठक करीब तीन घंटे चली। ये भी जानकारी मिली है कि सीएम शिवराज सिंह सोमवार को दिल्ली जाएंगे। वहां केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे। ऐसी संभावना है कि जिन सीटों पर ज्यादा घमासान की स्थिति है वहां का फैसला दिल्ली से हो सकता है। इससे पहले सुबह भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा और स्थानीय निकाय चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्यों ने चर्चा कर आगामी रणनीति पर विचार-मंथन किया।

शिवराज सिंह से मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया :

महापौर के टिकट के लिए भाजपा में उठापटक जारी है। रविवार सुबह केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से सीएम हाउस में मुलाकात की। इसके बाद भाजपा ऑफिस में पार्टी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के साथ बैठक में शामिल हुए। डेढ़ घंटे चली बैठक में महापौर उम्मीदवारों के नाम को लेकर मंथन हुआ। सिंधिया अपने एक समर्थक को टिकट दिलाने पर अड़े हुए हैं।

आधी रात को तय किए उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर और सतना के कैंडिडेट :

16 नगर निगमों के महापौर प्रत्याशी चयन के लिए बैठी भाजपा की प्रदेश चुनाव समिति और कोर ग्रुप ने पांच सीटों पर सिंगल नाम तय कर दिए हैं। इनमें उज्जैन से मुकेश टटवाल, रतलाम से अशोक पोरवाल, सतना से योगेश ताम्रकार, छिंदवाड़ा से जितेंद्र शाह और बुरहानपुर नगर निगम में महापौर प्रत्याशी माधुरी पटेल के नाम फाइनल हो गए हैं। भोपाल, इंदौर और ग्वालियर में बड़ा पेंच है। ग्वालियर के नाम पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सहमति बनाने के प्रयास हैं।

ग्वालियर में डॉ. वीरा लोहिया, सुमन शर्मा, माया सिंह और समीक्षा गुप्ता के नाम आए। यदि भोपाल से कृष्णा गौर के लिए पार्टी नियम से समझौता करती है तो इंदौर में विधायक रमेश मेंदोला भी अपना दावा मजबूती से रख सकते हैं। इंदौर में मेंदोला के अलावा गौरव रणदिवे, पुष्यमित्र भार्गव और डॉ. निशांत खरे के नाम हैं। इसी तरह जबलपुर के लिए कमलेश अग्रवाल, डॉ. जितेंद्र जामदार और अभिलाष पांडे के नाम का जिक्र आया है। वहीं सिंगरौली में वीरेंद्र गोयल की दावेदारी आई।

पांच निगम में महापौर उम्मीदवार :

सतना : योगेश ताम्रकार भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। संघ के करीबी माने जाते हैं।

उज्जैन : मुकेश टटवाल भाजपा दलित वर्ग से आते हैं। अनुसूचित जाति के प्रदेश उपाध्यक्ष है।

रतलाम : अशोक पोरवाल नगर निगम के अध्यक्ष रह चुके हैं और पूर्व पार्षद हैं।

छिंदवाड़ा : जितेंद्र शाह किसान मोर्चा के कार्यालय मंत्री।

बुरहानपुर : माधुरी पटेल पूर्व महापौर हैं।

सीएम ने फोन पर बधाई देते हुए कहा कि "योगेश जी आपको सतना से चुनाव लड़ना है।"

भोपाल में कृष्णा गौर के लिए पार्टी आसान कर सकती है क्राइटेरिया :

भोपाल में विधायक कृष्णा गौर का नाम आने पर क्राइटेरिये का सवाल आया। सदस्यों ने कहा कि कृष्णा गौर विधायक हैं, लेकिन उनके अलावा विकल्प नहीं मिल रहे। मालती राय और उपमा राय को लेकर कहा गया कि वे उम्रदराज हैं। बाकी नाम कांग्रेस प्रत्याशी विभा पटेल के सामने कमजोर साबित हो सकते हैं। लिहाजा प्रदेश नेतृत्व भोपाल के मामले में केंद्र से बात करेगा कि विधायक के क्राइटेरिये को भोपाल के लिए शिथिल किया जाए। बैठक में यह भी कहा गया कि यदि विधायक के नाम पर सहमति नहीं मिलती तो नए चेहरों को टिकट दे दिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co