प्रज्ञा को मिले संदिग्ध पत्र मामले में नया मोड़, डॉक्टर गिरफ्तार
प्रज्ञा को मिले संदिग्ध पत्र मामले में नया मोड़, डॉक्टर गिरफ्तार|Priyanka Yadav - RE
मध्य प्रदेश

प्रज्ञा को मिले संदिग्ध पत्र मामले में नया मोड़, डॉक्टर गिरफ्तार

भोपाल, मध्यप्रदेश : राजधानी की सांसद प्रज्ञा को मिले संदिग्ध केमिकल वाले पत्र का प्रदेश की एटीएस पुलिस ने किया खुलासा, आरोपी को महाराष्ट्र से किया गिरफ्तार।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर के घर संदिग्ध चिट्ठी मामले में प्रदेश की एटीएस पुलिस ने खुलासा करते हुए महाराष्ट्र के नांदेड जिले से आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। जिसकी जानकारी पुलिस ने दी। मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी पहले भी कई सरकारी अधिकारियों को इसी तरह से पत्र लिख चुका है।

क्या था मामला :

मिली जानकारी के अनुसार सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के घर अक्टूबर माह को भेजी गई चिट्ठी को सोमवार रात को खोला गया। आपको बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर का पत्र उर्दू में आया है, इसमें सिल्वर कलर के पावडर का पैकेट और उर्दू में लिखा हुआ एक कागज मिला। इस मामले में फॉरेंसिक टीम सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के घर पर मौजूद रही और मामले पर की जांच कर रही थी। इस मामले में सांसद प्रज्ञा की शिकायत पर भोपाल पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धारा 326 और 506 के तहत केस दर्ज किया था।

पिछले 3 माह से राडार पर था आरोपी :

जानकारी के मुताबिक, प्रदेश की एटीएस पुलिस ने सांसद प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत पर कार्रवाई शुरू की जिसमें एटीएस पुलिस ने गुरूवार को आरोपी को गिरफ्त में लिया। आरोपी को महाराष्ट्र के जिले नांदेड़ के धानेगांव क्षेत्र से जांच के आधार पर पकड़ा। आरोपी सैयद अब्दुल रहमान खान (35) पेशे से डॉक्टर है जो धानेगांव क्षेत्र में ही क्लीनिक की दुकान चलाता है। पुलिस के मुताबिक, पिछले तीन माह से आरोपी संदेह के आधार पर राडार पर था क्योंकि वह पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दे चुका था जिसमें उसे गिरफ्तार किया गया था।

मां और भाई के आतंकवादियों से संपर्क का किया था दावा :

इस मामले में नांदेड़ के इतवारा पुलिस थाने के निरीक्षक प्रदीप ककाडे ने बताया कि, पुलिस उसके मोबाइल की लोकेशन के आधार पर लगातार नजर रख रही थी, लेकिन वह मोबाइल को छोड़कर महाराष्ट्र के औरंगाबाद, नागपुर और अन्य स्थानों पर पत्र को डालने जाता था, जिस कारण गिरफ्त से बाहर था। आरोपी का दावा था कि उसकी मां और भाई का आंतकवादियों से संपर्क था जिस कारण से उसने अपने भाई से मारपीट की थी जिसमें वह गिरफ्तार हुआ था।

प्रज्ञा को सताया साजिश का डर : उर्दू पत्र ने उड़ाई नींद

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co