फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले बंटी और बबली गिरफ्तार, कार्रवाई जारी
भोपाल, मध्यप्रदेश: राजधानी में फेसबुक पर दोस्ती कर करोड़ों की धोखाधड़ी करने का मामले में नाइजीरियन बंटी और बबली को गिरफ्तार किया है।
फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले बंटी और बबली गिरफ्तार, कार्रवाई जारी
फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाले बंटी और बबली गिरफ्तारSyed Dabeer Hussain - RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में एक ओर कोरोना का संकट जारी है वहीं दूसरी तरफ बढ़ते संक्रमण के बीच कई अप्रत्याशित घटनाओं की खबरें सामने आती जा रही हैं, इस बीच ही राजधानी में फेसबुक पर दोस्ती कर गिफ्ट पार्सल भेजने के बहाने करोड़ों की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। जिस पर कार्रवाई करते हुए सायबर पुलिस की टीम ने नाइजीरियन बंटी और बबली को गिरफ्तार किया है।

क्या है पूरा मामला

मिली जानकारी के अनुसार, शिकायतकर्ता नेहा राजपूत द्वारा आवेदन पत्र प्रस्तुत कर बताया कि अज्ञात दो व्यक्ति द्वारा ब्रिटिश नागरिक बताकर अपनी एक महिला साथी के माध्यम से एक पुरूष द्वारा फेसबुक पर दोस्ती कर गिफ्ट पार्सल भेजने के बहाने कस्टम ऑफिसर बनकर डिलेवरी चार्ज, पेनाल्टी चार्ज, मनी लांण्डरिंग फीस के नाम पर उसके साथ 3 लाख 5 हजार रूपये/- की धोखाधड़ी की गयी है। आवेदन पत्र की जांच के दौरान थाना क्राईम ब्रांच भोपाल में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध अपराध क्रमांक 156/20 धारा 419,420,201 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

विवेचना के दौरान प्रकरण में आरोपी के नाम

1.ऑगस्टिन उडेक्वे 2. लाल्हमुन्सियामी के नाम ज्ञात हुये जिन्हें महावीर इन्कलेव पार्ट-2 उत्तम नगर दिल्ली से भोपाल पुलिस की सायबर क्राईम टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया। क्रनाम आरोपी पिता का नाम उम्र शिक्षा पता भूमिका 1- ऑगस्टिन उडेक्वेपेटर 28 प्राईमरी उत्तम नगर पश्चिम दिल्ली महिलाओ से दोस्ती करना। 2- लाल्हमुन्सियामी लालरामछना 27 मीडिल उत्तम नगर पश्चिम दिल्ली कस्टम अधिकारी बनकर रूपये प्राप्त करना।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

इस संबंध में बताते चलें कि, आरोपी टीम के सदस्य विदेशी नागरिक बनकर महिलाओं/पुरूषों से सोशल नेटवर्किंग साईट्स जैसे फेसबुक, वाट्सअप के माध्यम से महिलाओं से गहरी दोस्ती करते हैं, तथा उन्हें अपने पूर्ण विश्वास मे लेकर महिला/पुरूषों को यह विश्वास दिलाते हैं, कि वह उन्हें किमती गिफ्त/बड़ी रकम पार्सल के माध्यम से भेज रहा है, तदउपरांत टीम का दूसरा सदस्य महिला/पुरूष को वाट्सअप/फोन कॉल कर यह बताता है, कि वह कस्टम अधिकारी है। जिसने एयरपोर्ट पर महॅंगा गिफ्ट/पार्सल पकड़ लिया है, तथा महिला से डिलेवरी चार्ज, एंटी मनी लांण्डरिंग सर्टीफिकेट, एंटी टेरेरिज्म सर्टीफिकेट, पेंनल्टी फीस, आदि के नाम पर विभिन्न बैंक खातों में रूपये जमा करा लेते हैं। इस दौरान फर्जी कस्टम अधिकारी महिला/पुरूष को यह कहकर डराता है, कि यदि उसने उक्त राशी जमा नहीं किए तो पार्सल भेजने व प्राप्त करने वाले व्यक्ति को एंटी मनी लांण्डरिंग एक्ट/एंटी टेरेरिज्म एक्ट में जेल जाना पड़ेगा।

इस प्रकार वह तब तक महिला/पुरूष से अलग-अलग तरीकों से रूपये की मांग करते हैं। जब तक कि महिला/पुरूष रूपये देना बन्द नहीं करते आरोपीगण पहले से ही संपन्न दिखने वाली महिलाओं/पुरूषों को टारगेट करते हैं।

आरोपियों के पास से जब्त की सामग्री

इस संबंध में आरोपियों के पास से पुलिस को 01 नग लेपटॉप, 05 नग मोबाईल फोन, 01 नग हार्ड डिस्क, 02 नग सिम कार्ड, 03 नग खाली मोबाईल बॉक्स, आरोपी का मूल पासपोर्ट मिले हैं। बता दें कि, आरोपियों द्वारा इस प्रकार से अन्य लोगों को ठगा गया है आरोपियों द्वारा उपयोग किये गये बैंक खातों, मोबाईल नम्बर के विरुद्ध शिकायत की विभिन्न स्थानों/थानों में की गई है।

शिकायत/एफ.आई.आर.की जानकारी प्राप्त

इस संबंध में बताते चलें कि, अन्य जानकारी प्राप्त हुई है जिनका विवरण निम्नानुसार है-

01- साईबर क्राईम तुरुअनंतपुरम केरल 8,35,000/-

02- एमएचबी पुलिस स्टेशन, मुम्बई 8,15,000/-

03 - स्टेट साईबर सेल, भोपाल1,65,500/-

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co