अब 1 जुलाई से होंगे नए शराब ठेके देने का प्रस्ताव, बैकफुट पर शिवराज सरकार
अब 1 जुलाई से होंगे नए शराब ठेके देने का प्रस्तावSocial Media

अब 1 जुलाई से होंगे नए शराब ठेके देने का प्रस्ताव, बैकफुट पर शिवराज सरकार

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश में अब नई आबकारी नीति 3 माह के लिए टल सकती है। जो अप्रैल की बजाय जुलाई में होगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कई योजनाओं को लेकर सरकार द्वारा कार्य जारी है तो वहीं सरकार द्वारा तैयार की जा रही नीतियों के लागू होने को लेकर भी संशय बरकरार है। इस बीच ही प्रदेश सरकार बैकफुट पर आ गई है जिसके साथ अब नई आबकारी नीति 3 माह के लिए टल सकती है। जो अप्रैल की बजाय जुलाई में होगी।

पूर्व सीएम उमा भारती के अभियान का पड़ेगा असर

इसे लेकर बताया जा रहा है कि, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने प्रदेश में शराबबंदी को लेकर अभियान शुरू करने का ऐलान किया है। जिसकी वजह से अभियान का असर इस नीति के लागू होने पर पड़ सकता है। अनुमान यह भी है कि नगरीय निकाय चुनाव से पहले पूर्व सीएम उमा भारती के अभियान से भाजपा को नुक़सान पहुंच सकता है।

नई शराब की दुकानों को लेकर विवाद हुआ शुरू

इस संबंध में बताते चलें कि, आबकारी विभाग ने नई आबकारी नीति का प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को पिछले सप्ताह भेज दिया था। जिसमें हर साल 15 मार्च तक टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली जाती है, ताकि आगामी वित्तीय वर्ष (1अप्रैल से 31 मार्च) में शराब के ठेके 1 अप्रैल से शुरू हो सकें। लेकिन इस प्रक्रिया को लेकर विवाद की स्थिति बनी थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co