Raj Express
www.rajexpress.co
तीन लोगों ने बंधक बनाकर की मारपीट-लूट
तीन लोगों ने बंधक बनाकर की मारपीट-लूट |Social Media
मध्य प्रदेश

सावधान! लिफ्ट के बहाने तीन बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

भोपाल, मध्यप्रदेश : अपहरण का मामला राजधानी भोपाल से सामने आया है, तीनों बदमाश ने हलालपुर बस स्टैंड के पास से लिफ्ट लेने के बहाने किया अपहरण।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

हाइलाइट्स

  • लिफ्ट देने से पहले रहें सावधान

  • SR कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रोडक्शन हेड को लिफ्ट देना पड़ा महंगा

  • लाला घाटी इलाके में आरोपियों ने मांगी थी लिफ्ट

  • तीन लोगों ने बंधक बनाकर की मारपीट और लूट

  • कोहफिजा पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में अपराध घटने के बजाय लगातार बढ़ते जा रहे हैं। दरसअल अपहरण का मामला राजधानी भोपाल से सामने आया है, शुक्रवार की शाम तीनों बदमाश हलालपुर बस स्टैंड के पास से लिफ्ट लेने के बहाने प्रोजेक्ट हेड की कार में सवार हुए थे। उसके बाद फंदा टोल नाके से कुछ आगे जाने के बाद पिस्टल की नोंक पर उन्हें बंधक बना लिया।

क्या था मामला

जानकारी के अनुसार मामला यह था कि इंदौर की एसआर कंस्ट्रशन कंपनी के प्रोजेक्ट हैड को तीन सशस्त्र बदमाशों ने उनकी ही कार में बंधक बनाकर अगवा कर लिया। फरियादी से मारपीट करने के बाद तीनों बदमाश उन्हें इंदौर के पास सांवेर थाना क्षेत्र स्थित जंगल में एक पेड़ से बांधकर फरार हो गए। किसी तरह वह बंधन से मुक्त होकर इंदौर अपने रिश्तेदार के घर पहुंचे और फिर वहां से भोपाल आ गए। कोहेफिजा पुलिस ने फरियादी प्रोजेक्ट हैड की शिकायत पर तीनों सशस्त्र बदमाशों के खिलाफ धारा 394 के तहत लूट का प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों की खोजबीन शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार

पुलिस के मुताबिक मूलरूप से जिला सीधी निवासी रजनीश तिवारी कोलार रोड स्थित ललिता नगर में रहते हैं और इंदौर की एसआर कन्ट्रशन कंपनी में प्रोजेक्ट हेड हैं। विगत 15 नवंबर की शाम वह अपनी ब्रेजा कार में सवार होकर इंदौर जाने के लिए घर से निकले थे। हलालपुर लालघाटी स्थित चार्टेड बस स्टैंड के पास तीन अज्ञात लोग उन्हें मिले और इंदौर तक के लिए लिफ्ट मांगी। पहले तो रजनीश ने लिफ्ट देने से साफ इनकार कर दिया, लेकिन जब उनमें से एक ने पत्नी की डिलीवरी होने और उसकी हालत अधिक खराब होने की दुहाई दी तो रजनीश तिवारी का दिल पसीज गया। वह तीनों को लिफ्ट देने के लिए राजी हो गए।

उल्टी होने का बहाना कर रुकवाई कार

थाना प्रभारी अमरेश बोहरे ने बताया कि- अंधेरे जंगल में तीनों में से एक बदमाश ने उल्टी होने व तबियत खराब होने बहाना बनाकर कार रुकवा ली। बदमाश उल्टियां करने के बहाने नीचे उतर गया। इस बीच एक अन्य बदमाश भी कार से उतर गया और अचानक उन लोगों ने अपनी जेब से चाकू आदि धारदार हथियार निकाल लिए। एक बदमाश ने कनपटी पर पिस्टल लगाकर रजनीश तिवारी को कार से उतारकर पीछे वाली सीट पर बिठाकर बंधक बना लिया। तीनों बदमाशों में से एक बदमाश कार की ड्राइविंग सीट पर सवार हो गया।

पुलिस ने बताया-

तीनों बदमाशों ने उनकी ही कार में बंधक बनाकर रजनीश तिवारी का अपहरण कर लिया। चलती कार में बुरी तरह मारपीट करने के बाद आरोपियों ने रजनीश की दो सोने की अंगूठियां व हाथ घड़ी उतरवा ली और उनके 2 मोबाइल फोन भी छीन लिए। बदमाशों ने रजनीश का पर्स भी छीन लिया, जिसमें आधार कार्ड व अन्य जरूरी दस्तावेज व नगदी रखी थी। विगत 15-16 नवंबर की दरमियानी रात करीब ढाई बजे इंदौर के पास सांवेर थाना क्षेत्र में अंधेरे व जंगली इलाके में रजनीश तिवारी को एक पेड़ से बांधकर बदमाश उनकी ब्रेजा कार लेकर भाग खड़े हुए। करीब आधा घंटा पेड़ से बंधे रहने के बाद किसी तरह उन्होंने खुद को केबल की पकड़ से मुक्त कराया और ट्रक से लिफ्ट लेकर इंदौर अपने रिश्तेदार के घर पहुंच गए।

अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

जानकारी के मुताबिक बताया जाता है कि, रविवार सुबह फरियादी रजनीश तिवारी अपने रिश्तेदार के साथ इंदौर से भोपाल पहुंचे और कोहेफिजा थाने जाकर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करा दिया। थाना प्रारी का कहना है कि सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से आरोपियों के बारे में अहम सुराग हासिल हुए हैं, कोहफिजा पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटीहै।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्रामचैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।