भोपाल: पटवारी के विवादास्पद ट्वीट पर विरोध शुरू
भोपाल: पटवारी के विवादास्पद ट्वीट पर विरोध शुरू|Social Media
मध्य प्रदेश

सरकार को घेरने के चक्कर में खुद ही घिरे पटवारी, आयोग ने मांगा जवाब

भोपाल, मध्यप्रदेश: पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के विवादास्पद ट्वीट ने विरोधी स्वर मुखर कर दिए हैं, जिस पर कार्रवाई करते हुए महिला आयोग ने नेता पटवारी से जवाब मांगा है।

Deepika Pal

Deepika Pal

भोपाल, मध्यप्रदेश: वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमित मामले जहां दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे है वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक जगत में सरकार और विपक्ष के बीच ट्विटर बाज़ी और बयानबाजी का दौर जारी है इस बीच ही बीते दिन पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के विवादास्पद ट्वीट ने विरोधी स्वर मुखर कर दिए है, जिस संबंध में ट्वीट को महिलाओं और बालिकाओं के विरुद्ध बताते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग और बाल संरक्षण आयोग में शिकायत की गई है। जिस पर कार्रवाई करते हुए आयोग ने नेता पटवारी से जवाब मांगा है। हालांकि पटवारी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से पोस्ट को हटाते हुए खेद व्यक्त किया है।

केंद्र पर निशाना साधते हुए किया था ट्वीट

आपको बताते चलें कि, कांग्रेस नेता जीतू पटवारी के केंद्र सरकार को घेरने वाले एक विवादास्पद ट्वीट जारी किया था, जिसमें कहा था कि एक पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हो गई। नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई, बेरोजगारी और मंदी; परंतु अभी तक "विकास" पैदा नहीं हुआ। जिसके बाद बीजेपी में इस ट्वीट से हड़कंप मच गया। वहीं इस ट्वीट को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी आपत्ति जताई थी। इसके अलावा मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी पटवारी के विवादित ट्वीट को नारी जाति का अपमान बताया है।

आयोग ने ट्वीट को महिला विरोधी बताते हुए की कार्रवाई

इस संबंध में, विवादास्पद ट्वीट के विरोध का मामला गरमाते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग पहुंच गया जहां आयोग ने महिला व लिंग विरोधी बताया है। बाल संरक्षण आयोग ने पटवारी को नोटिस देकर 3 दिन में जवाब मांगा है। आयोग ने कहा है कि उन्होंने ट्वीट में बेटी के बजाए बेटे को प्राथमिकता देने की गलत सोच का न केवल समर्थन किया, बल्कि इससे उनकी बालिकाओं के प्रति मानसिकता और रवैये को भी दर्शाया। इसी सोच से देश में कन्या भ्रूण हत्या की दर बढ़ गई है। यह लैंगिक समानता एवं बच्चियों के अधिकारों के प्रति कुठाराघात है। इसके अलावा पटवारी ने ट्वीट का विरोध होने पर माफी मांगी है। उन्होंने कहा मेरे इस ट्वीट से यदि किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं खेद व्यक्त करता हूं। जहां तक बात बेटियों की है तो वे देवीतुल्य हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co