Bhopal : नाले साफ न करने का नतीजा, घरों में भराया सीवेज का पानी, सड़कों पर फैली गंदगी
पहली ही बरसात में खुली पोल, पूरे शहर में नाले-नाली हुईं चोकRaj Express

Bhopal : नाले साफ न करने का नतीजा, घरों में भराया सीवेज का पानी, सड़कों पर फैली गंदगी

भोपाल, मध्यप्रदेश : शहर के अधिकांश इलाकों में नाले-नालियों का सीवेज सड़कों पर जमा होने के बाद घरों तक पहुंच गया। आधे घंटे की बरसात में ही पूरा शहर बेहाल हो गया।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मानसून की पहली तेज बरसात में ही राजधानी जलमग्न हो गई। नगर निगम ने इस साल नाला सफाई अभियान नहीं चलाया, इसका नजीजा सोमवार को सामने आ गया। शहर के अधिकांश इलाकों में नाले-नालियों का सीवेज सड़कों पर जमा होने के बाद घरों तक पहुंच गया। आधे घंटे की बरसात में ही पूरा शहर बेहाल हो गया। इधर नगर निगम के कॉल सेंटर में भी पानी भरने की शिकायतें पहुंची, लेकिन देर शाम तक निगम की ओर से कोई मदद नहीं आई, तब रहवासी खुद ही घरों के बाहर गंदा पानी साफ करते देखे गए।

सोमवार को राजधानी में दोपहर में अचानक तेज बरसात के बाद कई इलाकों के हाल-बेहाल हो गए। यह स्थिति नालों की सफाई न होने की वजह से बनी। हर साल नगर निगम एक मई से 30 मई तक शहर के सभी छोटे-बड़े नालों की सफाई करता था, लेकिन इस बार यह अभियान चला ही नहीं। पूरा मई बीतने के बाद जून में जरूर शहर के कुछ बड़े नालों की सफाई हुई। लेकिन यह सफाई भी अधूरी ही रही और नालों से कचरा नहीं निकाला गया। अब इसका नतीजा सामने है। शहर के अधिकांश इलाकों में नालों का पानी सड़कों पर पहुंचकर घरों तक आ गया। मात्र आधे घंटे की बरसात में यह सब हो गया।

सड़कों पर आई गंदगी :

पुराने शहर के जोन 3 सहित जोन 4, जोन 5, जोन 8, जोन 9, 10, 11, 12, 17, 18 और 19 के इलाकों से नगर निगम के कॉल सेंटर में नालियों का पानी सड़कों तक आने की शिकायतें दर्ज हुईं। जोन 3 के जीआईजी चौराहा सहित शाहजहांबाद की मेन रोड पर नालों का पानी सड़कों पर आ गया। जबकि जोन 4 के कबाड़खाना, मंगलवारा, आजाद मार्केट, हमीदिया रोड, नव बहार सब्जी मण्डी इलाकें में नालों की गंदगी घंटों सड़कों पर बहती रही। वहीं नए-पुराने शहर के इलाकों में भी पानी भरने की शिकायतें सामने आईं।

पानी भरे या पेड़ गिरे तो यहां करें शिकायत :

शहर में अगर कहीं पानी भरने की समस्या हो या आस-पास पेड़ गिर जाए तो तुरंत नगर निगम के कंट्रोल रूम के फोन नंबर 0755-2542222, 2540220 और 2701401 पर संपर्क कर सकते हैं। जहां 24 घंटे मदद के लिए टीम मौजूद रहेगी। कंट्रोल रूम के प्रभारी डीसी योगेन्द्र सिंह पटेल हैं। जबकि माता मंदिर केन्द्रीय कर्मशाला कंट्रोल रूम के प्रभारी ट्रांसपोर्ट अधिकारी चंचलेश गिरहरे हैं।

हेल्पलाईन नंबर जारी :

  • कंट्रोल रूम का हेल्पलाईन नंबर 0755-2542222, 2540220 और 2701401

  • स्ट्रीट लाईट से संबंधित शिकायत के लिए 0755-2459991

  • कंट्रोल रूम प्रभारी योगेन्द्र सिंह पटेल का मो.न. 9425391813

  • वर्कशॉप कंट्रोल रूम प्रभारी चंचलेश गिरहरे का मो.नं. 9425149028

कंट्रोल रूम में मौजूद रहेगा रेस्क्यू उपकरण :

मुख्य आपातकाल कक्ष में 4 जेसीबी मशीन सहित अन्य वाहन 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे। वहीं फायरमैन, तैराक, गोताखोर, वाहन चालक, इमरजेंसी लाईट, डी-वॉटरिंग पंप और फ्लड लाईट की व्यवस्था की गई है। फायर ब्रिगेड और केन्द्रीय कर्मशाला कंट्रोल रूम से जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और निगम के वरिष्ठ अधिकारी संपर्क में रहेंगे। शहर में कहीं मकान गिरने, किसी इलाके में पानी भरने या किसी भी प्रकार की शिकायत आती है तो तुरंत कंट्रोल रूम से मजदूर भेजने की व्यवस्था रहेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co