जन-कल्याण और सुराज अभियान में रीवा संभाग को मिलेंगी अनेक सौगातें

भोपाल, मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जन-कल्याण एवं सुराज अभियान के तहत रीवा संभाग को अनेक सौगातें प्रदान करेंगे।
जन-कल्याण और सुराज अभियान में रीवा संभाग को मिलेंगी अनेक सौगातें
जन-कल्याण और सुराज अभियान में रीवा संभाग को मिलेंगी अनेक सौगातेंSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जन-कल्याण एवं सुराज अभियान के तहत रीवा संभाग को अनेक सौगातें प्रदान करेंगे। आधिकारिक जानकारी के अनुसार श्री चौहान प्रदेश के सिंगरौली जिले के चितरंगी में 4 अक्टूबर को जल-जीवन मिशन में 1566 करोड़ 49 लाख रुपये से अधिक लागत की जल-प्रदाय योजनाओं का शिलान्यास करेंगे। श्री चौहान लोक निर्माण विभाग के 39 करोड़ रुपये लागत के विभिन्न कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण कर विकास की सौगात देंगे। जल-प्रदाय योजनाओं से सिंगरौली जिले के सिंगरौली, चितरंगी, देवसर और सीधी जिले के धौहनी तथा सिंहावल विधानसभा क्षेत्रों के 3 लाख से अधिक परिवारों को नल कनेक्शन से जल-प्रदाय किया जा सकेगा।

इसी क्रम में रीवा संभाग के 200 ग्रामों में 197 करोड़ 6 लाख रूपये लागत की जल-प्रदाय योजनाओं का भी शिलान्यास किया जायेगा। इनसे 94 हजार 214 परिवारों को घरेलू नल कनेक्शन से पेयजल उपलब्ध करवाया जायेगा। आगामी 30 वर्षों के लिये रूपांकित जनसंख्या के आधार पर इन जल-प्रदाय योजनाओं का सर्वे तथा अनुमान कर कार्य शुरू किए जा रहे हैं।

प्रदेश की पूरी ग्रामीण आबादी को नल से जल उपलब्ध करवाने के लिए जल जीवन मिशन में जल-प्रदाय योजनाओं के निर्माण का क्रियान्वयन निरन्तर जारी है। इन जल-प्रदाय योजनाओं के शिलान्यास कार्यक्रम में 1428 स्कूलों और 960 आँगनबाड़ी केन्द्रों में भी नल कनेक्शन के जरिए जल पहुँचाने के लिए 33 करोड़ 98 लाख रूपये की लागत के कार्यों को शामिल किया गया है।

सिंगरौली और सीधी जिले के करीब 700 ग्रामों के लिए निर्मित की गई इन जल-प्रदाय योजनाओं से लगभग 11 लाख आबादी को लाभ पहुँचेगा। रिहन्द बाँध के जल-स्त्रोत से बनी बैढ़न-एक जल प्रदाय योजना में बैढ़न के 183 एवं चितरंगी के 100 ग्रामों, सोन नदी के जल-स्त्रोत से बैढ़न-दो जल प्रदाय योजना में 184 ग्राम और गोड़ बाँध के जल-स्त्रोत से गोंड देवसर जल-प्रदाय योजना में 206 ग्रामों को शामिल किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.