Bhopal : मुख्यमंत्री निवास में विधि-विधान से साधना सिंह ने की बैल पूजा
मुख्यमंत्री निवास में विधि-विधान से साधना सिंह ने की बैल पूजाShravan Mawai

Bhopal : मुख्यमंत्री निवास में विधि-विधान से साधना सिंह ने की बैल पूजा

बैल पोला पर्व के मौके पर मुख्यमंत्री निवास में विधि-विधान से मुख्यमंत्री की धर्मपत्नि ने बैल पूजा की। साधना सिंह ने बैल को तिलक लगाया उनकी आरती उतार, फिर गुड़ की रोटी और चावल के व्यंजन उन्हें खिलाए।

भोपाल, मध्यप्रदेश। सोमवार को बैल पोला पर्व के मौके पर मुख्यमंत्री निवास में विधि-विधान से मुख्यमंत्री की धर्मपत्नि साधना सिंह ने बैल पूजा की। श्री साधना सिंह ने बैल को तिलक लगाया उनकी आरती उतार और फिर गुड़ की रोटी और चावल के व्यंजन उन्हें खिलाए। पूजन से पहले बैलों का श्रृंगार किया गया था।

गौरतलब है कि भाद्रपद अमावस्या से एक दिन पूर्व किसान गाय एवं बैलों को रस्सी से आजाद कर देते हैं, इनके शरीर पर हल्दी का उबटन एवं सरसों का तेल लगाकर मालिश करते हैं। अगले दिन यानी बैल पोला के दिन गाय-बैलों को स्नान कराया जाता है। इसके बाद उनका श्रृंगार करते हैं। गले में घंटी युक्त नई माला पहनाते हैं। उनके सींगों को रंगा जाता है, उसमें धातु के छल्ले, एवं वस्त्र पहनाते हैं और माथे पर तिलक लगाकर उन्हें हरा चारा और गुड़ खिलाते हैं। कुछ क्षेत्रों में पोली नैवेद्य (चावल एवं दाल से बना विशिष्ठ पकवान व्यजंन) और गुड़वनी (गुड़ से बना पकवान) भी खिलाया जाता है। घर के सभी सदस्य बैलों के सामने हाथ जोड़कर कृषि में सह भूमिका निभाने के लिए अभार व्यक्त करते है। विदर्भ के अधिकांश क्षेत्रों में बैल पोला उत्सव दो दिन मनाया जाता है, पहले दिन बड़ा पोला और अगले दिन छोटा पोला। बड़ा पोला के दिन किसान बैल को सजाकर उसकी पूजा करते हैं, जबकि छोटा पोला में बच्चे खिलौने के बैल सजाकर घर-घर लेकर जाते हैं। बदले में उन्हें हर घरों से पैसे अथवा उपहार मिलते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co