Bhopal : सीजन की पहली भारी वर्षा, चौबीस घंटे में बरसा 84.2 मिमी पानी
सीजन की पहली भारी वर्षासांकेतिक चित्र

Bhopal : सीजन की पहली भारी वर्षा, चौबीस घंटे में बरसा 84.2 मिमी पानी

भोपाल, मध्यप्रदेश : मानसून के सक्रिय होते ही राजधानी सहित प्रदेश में बारिश का दौर शुरू हो गया है। इसी क्रम में भोपाल शहर में सोमवार सुबह 8.30 बजे तक बीते चौबीस घंटे में 84.2 मिमी बारिश हुई है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मानसून के सक्रिय होते ही राजधानी सहित प्रदेश में बारिश का दौर शुरू हो गया है। इसी क्रम में भोपाल शहर में सोमवार सुबह 8.30 बजे तक बीते चौबीस घंटे में 84.2 मिमी बारिश हुई है। यह सीजन की सबसे अधिक बारिश है जो भारी बारिश की श्रेणी में शामिल हुई है। राजधानी में 1 जून से लेकर अब तक 724.8 मिमी बारिश हुई है। यह सामान्य से 127.4 मिमी कम है। भोपाल में जून माह में वर्षा अधिक होने से वर्षा का आंकड़ा सामान्य से अधिक हो गया था। लेकिन जुलाई व अगस्त में बारिश कम होने से सामान्य वर्षा को कोटा पूरा नहीं हुआ था। अब सीजन की वर्षा का कोटा पूरा होने के लिए इसी तरह की भारी वर्षा की दरकार है। वर्षा कम होने से राजधानी के जलाशयों में जल स्तर अब भी कम है। विशेषज्ञों का कहना है कि कैचमेंट एरिया में बारिश होने के कारण तालाब में वाटर लेवल बढ़ रहा है। यदि इसी तरह से बारिश होती रही तो लेवल और बढ़ेगा।

2 सितंबर तक अच्छी वर्षा का अनुमान :

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र विदर्भ व उससे सटे प्रदेश के जिलों में मौजूद है। मानसून ट्रफ गुना, भोपाल से होते हुए विदर्भ तक बने सिस्टम तक है। वहीं से नमी आ रही है। इसलिए आगामी तीन दिन भोपाल सहित इंदौर, होंशंगाबाद, उज्जैन संभाग में अच्छी बारिश के आसार हैं। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में सिस्टम के सक्रिय होने से वातावरण में नमी की मात्रा अधिक है। मानसून ट्रफ के भोपाल से होकर गुजरने के कारण 2 सितंबर तक अच्छी वर्षा का अनुमान है। इस दौरान भारी वर्षा भी हो सकती है।

ऐसा रहा मौसम :

सोमवार को दोपहर से शाम तक हल्की बौछारें पड़ी। सुबह साढ़े आठ बजे से रात साढ़े आठ बजे तक 2 मिमी बारिश दर्ज की गई। अधिकतम तापमान बीते दिन के मुकाबले तीन डिग्री कम 27.8 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य ही रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 23.2 डिग्री रिकार्ड किया गया।

भारी या अति भारी बारिश की श्रेणी :

मौसम विभाग के अनुसार एक दिन में 64.5 मिमी से 115.5 मिमी के बीच वर्षा होने को भारी वर्षा की श्रेणी में रखा गया है। वहीं एक ही दिन में 115.6 मिमी से 204.4 मिमी के बीच वर्षा होती है तो उसे अति भारी वर्षा कहा जाता है। इस सीजन में राजधानी में एक भी बार भारी या अति भारी बारिश दर्ज नहीं की गई है।

जुलाई और अगस्त जून से पीछे :

इस साल जून के महीने में सर्वाधिक वर्षा हुई है। जून में कुल 284.1 मिमी वर्षा हुई थी, जो कि सामान्य से 145.3 मिमी अधिक थी। वहीं 1 जुलाई से 1 अगस्त के बीच मात्र 211.3 मिमी बारिश हुई थी। इसी तरह अगस्त माह में भी कम बारिश हुई है। अगस्त की औसत वर्षा 352.1 मिमी है। अगस्त के 30 दिनों में 229.4 मिमी बारिश हो चुकी है। अगस्त माह का आज अंतिम दिन है।

पिछले सालों के मुकाबले अगस्त की वर्षा :

साल 2020 के अगस्त महीने में कुल 615.5 मिमी बारिश हुई थी, जिससे बीते 7 साल का रिकार्ड टूट गया था और इस साल अब तक की वर्षा ने पिछले साल की वर्षा को भी पछाड़ दिया है। साहा ने बताया कि भोपाल में पहली बार भारी बारिश हुई है। वर्षा का माइन्स में है, जलाशय अभी भी खाली हैं। अगस्त में औसत बारिश के दिन करीब 14 दिन होते हैं। अभी 6 दिन से लगातार पानी गिर रहा है। सबसे ज्यादा बारिश वर्ष 2006 में 36 इंच हुई थी, जबकि सबसे कम वर्ष 2009 में करीब दो इंच ही हुआ था। 14 अगस्त वर्ष 2006 को एक दिन यानी 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा 12 इंच तक पानी गिरा था।

अगस्त माह में पिछले दस सालों में केवल चार बार ही सामान्य से अधिक बारिश हुई है। इस साल भी सामान्य से कम वर्षा हुई है। साल 2012 में 615.7 मिमी और साल 2020 में 615.5 बारिश हुई थी।

  • 2020 वर्ष में कुल बारिश 615.5 मिमी

  • 2019 वर्ष में कुल बारिश 389.7 मिमी

  • 2018 वर्ष में कुल बारिश 264.5 मिमी

  • 2017 वर्ष में कुल बारिश 126.0 मिमी

  • 2016 वर्ष में कुल बारिश 531.7 मिमी

  • 2015 वर्ष में कुल बारिश 285.0 मिमी

  • 2014 वर्ष में कुल बारिश 164.9 मिमी

  • 2013 वर्ष में कुल बारिश 333.0 मिमी

  • 2012 वर्ष में कुल बारिश 615.7 मिमी

  • 2011 वर्ष में कुल बारिश 346.9 मिमी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co