जूडा की हड़ताल में सुलह के संकेत: आज शाम को मंत्री से मिलने जाएंगे डॉक्टर्स
जूडा की हड़ताल में सुलह के संकेतSocial Media

जूडा की हड़ताल में सुलह के संकेत: आज शाम को मंत्री से मिलने जाएंगे डॉक्टर्स

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल में सुलह के संकेत मिल रहे हैं। जूडा ने प्रदेशाध्यक्ष से कहा- टकराव खत्म करिए।

भोपाल, मध्यप्रदेश। जहां बीते दिनों से मध्यप्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी रही है। वहीं, हड़ताल को लेकर जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) और सरकार के बीच विवाद गहराता जा रहा था, इस बीच अब प्रदेश के मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल में सुलह के संकेत मिल रहे हैं। बता दें कि जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) अब मंत्री से बातचीत करने को तैयार हो गए हैं।

जूडा प्रदेशाध्यक्ष बोले- टकराव खत्म करिए

मध्यप्रदेश में जूनियर डॉक्टरों की लगातार कई दिनों से हड़ताल जारी है, इस बीच हड़ताल पर जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) ने प्रदेशाध्यक्ष से कहा- टकराव खत्म करिए, हम इस मामले को लेकर बातचीत करने को तैयार है।

मिली जानकारी के मुताबिक आज सुबह जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) की तरफ से सरकार को बातचीत कर मामले का हल निकालने के लिए वीडियो जारी कर अनुरोध किया गया था। इस पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा- जूडा को हाईकोर्ट का सम्मान कर हड़ताल वापस लेना चाहिए, उन्होंने मांगों को लेकर भी अपनी बात कही है।

आज शाम को मंत्री से मिलने जाएंगे जूनियर डॉक्टर

मिली जानकारी के मुताबिक चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से जूनियर डॉक्टर आज शाम को उनके निवास पर मिलने जाएंगे। जूडा की तरफ से बताया गया कि हमें आधिकारिक तौर पर किसी ने मिलने नहीं बुलाया। हम मरीजों के हित को ध्यान देते हुए और कोर्ट का सम्मान करते हुए आज शाम 4 बजे विश्वास सारंग से मिलने जा रहे है।

आपको बता दें कि जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) 31 मई से अपनी पुरानी लंबित मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।

यह है जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) की मांगें

  • सरकार की ओर से 6% सालाना मानदेय बढ़ाने का वायदा पूरा किया जाए।

  • कोरोना के दौरान प्रति महीने 10 हज़ार रुपये देने का वायदा पूरा किया जाए।

  • जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (जूडा) को ग्रामीण सेवा के बंधन से मुक्त किया जाए।

  • कोरोना संकटकाल में सेवा के लिए प्रशस्ती पत्र दिया जाए, जिसका फायदा सरकारी भर्तियों में मिले।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co