प्रदेश के ड्रग कंट्रोलर नरहरि ने ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर की चिंता जाहिर
प्रदेश के ड्रग कंट्रोलर नरहरि ने ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर की चिंता जाहिरSocial Media

प्रदेश के ड्रग कंट्रोलर नरहरि ने ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर की चिंता जाहिर

भोपाल, मध्यप्रदेश: ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर नियंत्रक, खाद्य एवं औषधि प्रशासन पी नरहरि ने सोशल मीडिया पर इसके सुझाव मांगे हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना का संकट जहां बढ़ता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर नियंत्रक, खाद्य एवं औषधि प्रशासन पी नरहरि ने सोशल मीडिया पर इसके सुझाव मांगे हैं। साथ ही ऑक्सीजन का परिवहन करने वाले टैंकरों की धीमी गति को लेकर चिंता जाहिर की है।

ड्रग कंट्रोलर पी नरहरि ने सोशल पर मांगे सुझाव

इस संबंध में, सोशल मीडिया ट्विटर पर ड्रग कंट्रोलर ने पी नरहरि ने ट्वीट करते हुए कहा कि, ऑक्सीजन सप्लाई में टैंक- ट्रेन की स्पीड व एयर लिफ्ट में सेफ्टी बाधक, कैसे हो ज्यादा आपूर्ति की। अनुमान के हिसाब से प्रदेश को 30 अप्रैल तक 600 टन ऑक्सीजन की जरूरत होगी। वर्तमान में सरकार राज्य के बाहर से अधिकतम 400 टन की आपूर्ति कर पा रही है। अभी तक टैंकरों के माध्यम से ऑक्सीजन आ रही है, लेकिन अब सरकार एयर लिफ्ट करने की तैयारी है।

ऑक्सीजन लेकर आने वाली ट्रेन की स्पीड धीमी है -पी नरहरि

इस संबंध में आगे कहा कि, लिक्विड ऑक्सीजन लेकर आने वाली ट्रेन अधिकतम 20 किमी की स्पीड से ही चल सकती है। ऐसे में कैसे ट्रेन स्पीड सेफ्टी से समझौता किया जा सकता है? इसी तरह एयरलिफ्ट करने में भी प्रॉब्लम आएगी। साथ ही इससे पहले सरकार ऑक्सीजन के टैंकरों को एंबुलेंस का दर्जा दे चुकी है। समय रहते इन्हें मंजिल तक पहुंचाने के लिए कॉरिडोर बनाए गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co