उपचुनाव से पहले प्रदेश आए संगठन महामंत्री संतोष
उपचुनाव से पहले प्रदेश आए संगठन महामंत्री संतोष|Deepika Pal-RE
मध्य प्रदेश

भोपाल : उपचुनाव से पहले प्रदेश आए संगठन महामंत्री संतोष, अपनाया कड़ा रुख

भोपाल, मध्यप्रदेश: उपचुनाव की 27 सीटों की समीक्षा करने पहली बार प्रदेश आए भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने मंत्रियों के रवैये पर कड़ा रुख अपनाया।

Deepika Pal

Deepika Pal

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में महामारी कोरोना का प्रकोप जहां थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं संक्रमण के बीच उपचुनाव से पहले कई नेताओं का प्रदेश में आगमन हो रहा है इस बीच ही उपचुनाव की 27 सीटों की समीक्षा करने पहली बार प्रदेश आए भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने मंत्रियों के रवैये पर कड़ा रुख अपनाते हुए बात कहीं है।

बैठक में मंत्रियों को लेकर कहा साफ

इस संबंध में, बैठक के दौरान महामंत्री संतोष ने कहा कि, जिस भी मंत्री के क्षेत्र में हारे, उसकी माइनस मार्किंग होगी। जिताने पर सम्मान मिलेगा और जहां भी हार हुई तो उसके कारण सामने आने के बाद गाज भी गिर सकती है। मंत्री ही हार के लिए जिम्मेदार माने जाएंगे। आपको बताते चले कि, जिलाध्यक्ष, विधानसभा प्रभारी और मंत्रियों के साथ संतोष ने बीते बुधवार को बैठक की।बैठक में जयभान सिंह पवैया, माया सिंह, गौरीशंकर शेजवार, रुस्तम सिंह और लालसिंह आर्य भी मौजूद रहे। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती मंत्री संतोष से मिलने पहुंची।

27 सीटों में से 9 सीटे है दलित वर्ग की

इस संबंध में, मंत्री संतोष ने साफ करते हुए कहा कि, अलग-अलग बैठकों में यह भी साफ किया कि 27 सीटों में नौ दलित वर्ग की सीटें हैं। जहा पिछली बार यहां वोट घटे थे। इस बार ऐसा नहीं होना चाहिए। फोकस इन सीटों पर भी ज्यादा रखें।चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक व मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि दायित्वों की समीक्षा हुई है। मंत्रियों से कहा गया है कि वे विजय दिलाने का प्रयास करें।शिवराज सरकार मजबूती से चलाने का यह चुनाव है। इसमें प्रत्याशी गौण है, पार्टी प्रमुख है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co