कोरोना संकट के बीच हमीदिया अस्पताल में हड़ताल, कर्मचारियों ने की ये मांग
हमीदिया अस्पताल में हड़तालSocial Media

कोरोना संकट के बीच हमीदिया अस्पताल में हड़ताल, कर्मचारियों ने की ये मांग

भोपाल, मध्यप्रदेश। वैश्विक महामारी कोरोना के बीच हंगामे की खबरें लगातार सामने आ रही हैं, अब मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में कर्मचारियों की हड़ताल।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी की राजधानी भोपाल में वैश्विक महामारी कोरोना के केस अब इंदौर से ज्यादा आ रहे हैं, राजधानी में जहां कोरोना से स्थिति चिंताजनक बनी हुई है वहीं दूसरी तरफ हंगामे की खबरें लगातार सामने आ रही हैं, बता दें कि कोरोनाकाल मे मध्यप्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल में हड़ताल, मिली जानकारी के मुताबिक फिर हमीदिया अस्पताल में कर्मचारियों की हड़ताल, जिसके चलते हमीदिया अस्पताल की व्यवस्था बिगड़ गई है।

हमीदिया अस्पताल में कर्मचारियों की हड़ताल :

बता दें कि कोरोना के प्रकोप के बीच राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में आउटसोर्स कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं, मिली जानकारी के मुताबिक रात 12 बजे से कर्मचारी हड़ताल पर बैठ ​गए, जिसके चलते हमीदिया अस्पताल में अव्यवस्था देखा जा रहा है वही प्रशासनिक अधिकारी हालात नहीं संभाल पाए।

200 से ज्यादा कर्मचारियों ने की ये मांग :

बताया जा रहा है कि कर्मचारियों पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को रख रहे थे, लेकिन सुनवाई नहीं होने के बाद अब मैदानी व्यवस्था सम्भालने वाले वार्ड बॉय, अटेंडर, सफाई कर्मी हड़ताल पर चले गए हैं, बता दें कि 200 से ज्यादा कर्मचारियों ने तनख्वाह बढ़ायी जाने और सुविधाएं दिए जाने समेत संविदा नियुक्ति की मांग है।

बड़े अधिकारियों के व्यवहार से नाराज कर्मचारी

बता दें कि बड़े अधिकारियों के व्यवहार से 200 से ज्यादा कर्मचारियों नाराज है, इस बीच कर्मचारियों ने अफसरों पर भेदभाव का आरोप भी लगाया है, उनका कहना है कि तबीयत खराब होने पर कर्मचारियों को नहीं उपचार मिल रहा है।

बताते चले कि इससे पहले 2 अप्रैल को गांधी मेडिकल कॉलेज के 2 वरिष्ठ डॉक्टरों के जारी स्थानांतरण आदेश से हमीदिया अस्पताल में सामूहिक त्यागपत्र एवं हड़ताल की स्थितियां निर्मित हो रही थी, तभी चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने हमीदिया अस्पताल में हड़ताल टाली थी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग द्वारा कोविड महामारी के द्वितीय पीक के दौरान उत्पन्न हुई सामूहिक त्यागपत्र एवं हड़ताल की परिस्थितियों के निराकरण हेतु तत्काल स्थानांतरित किए गए दोनों चिकित्सक डॉक्टर संजीव गौर प्राध्यापक ऑर्थोपेडिक विभाग एवं डॉक्टर, प्राध्यापक मेडिसिन विभाग से दूरभाष पर चर्चा की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co