Bhopal: आज CM ने हार्टफुलनेस संस्थान के अध्यक्ष के साथ लगाए पीपल, नीम और पारिजात के पौधे
CM ने लगाए पीपल, नीम और पारिजात के पौधेSocial Media

Bhopal: आज CM ने हार्टफुलनेस संस्थान के अध्यक्ष के साथ लगाए पीपल, नीम और पारिजात के पौधे

भोपाल, मध्यप्रदेश : भोपाल के स्मार्ट पार्क में आज सीएम शिवराज ने हार्टफुलनेस संस्थान के अध्यक्ष डॉ. कमलेश डी. पटेल 'दाजी' के साथ पीपल, नीम और पारिजात के पौधे लगाए, इस अवसर पर कही ये बात...

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 'One Plant A Day' के संकल्प के तहत प्रतिदिन पौधारोपण कर रहे हैं, इसी कड़ी में आज मुख्यमंत्री ने हार्टफुलनेस संस्थान के अध्यक्ष के साथ भोपाल में स्थित स्मार्ट पार्क में पीपल, नीम और पारिजात के पौधे लगाए है।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट :

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा- भोपाल के स्मार्ट पार्क में आज हार्टफुलनेस संस्थान के अध्यक्ष डॉ. कमलेश डी. पटेल 'दाजी' के साथ पीपल, नीम और पारिजात के पौधे लगाए, हम सबका यह छोटा सा प्रयास धरती के साथ-साथ हमारे जीवन को स्वस्थ एवं आनंदित बनायेगा।

परम पूज्य दाजी सहज मार्ग परंपरा के चतुर्थ गुरु और हार्टफुलनेस संस्थान के वैश्विक मार्गदर्शक तथा अध्यक्ष हैं। पीपल, नीम और पारिजात के पौधे आयुर्वेद महत्व के पौधे हैं। इनका प्रयोग विभिन्न रोगों के उपचार के लिए किया जाता है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

आज डॉ. कमलेश डी. पटेल 'दाजी' और सभी साथियों के साथ पौधे लगाये : CM

मुख्यमंत्री ने कहा कि, यह मेरा सौभाग्य है कि आज आदरणीय डॉ. कमलेश डी. पटेल 'दाजी' और सभी साथियों के साथ पीपल, नीम, परिजात के पौधे लगाये हैं। पूरा समाज यदि यह संकल्प लेता है कि आने वाली पीढ़ियों के लिए यह धरती सुरक्षित छोड़नी है, तो हम सबको वृक्षारोपण के अभियान में भाग लेना चाहिये।

जानें पीपल, नीम और पारिजात के फायदे:-

पीपल का पेड़-

पीपल एक छायादार वृक्ष है। यह पर्यावरण को शुद्ध करता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व है। प्रकृति विज्ञान के अनुसार पीपल का वृक्ष दिन-रात दोनों समय ऑक्सीजन छोड़ता है जो पर्यावरण के लिए महत्वपूर्ण है।

नीम का पेड़-

गर्मी में ठंडी हवा देता है। इस पेड़ का हर हिस्सा किसी न किसी बीमारी के इलाज में काम आता है। एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि के रूप में जाना जाता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले लाभ अमृत के समान हैं।

पारिजात का पेड़-

हरसिंगार (पारिजात) की सुगंध किसी का भी बरबस मन मोह लेती है, अपने औषधीय गुणों के कारण भी यह बहुत उपयोगी है। यह पाचनतंत्र, ज्वर, मूत्र रोग, लीवर विकार जैसे अनेक विकारों से मुक्ति दिलाने में अत्यंत कारगर माना जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co