पटरी से उतर सकती थी ट्रेन : ड्रायवर की सूझ-बूझ से टला बड़ा हादसा
पटरी से उतर सकती थी ट्रेन : ड्रायवर की सूझ-बूझ से टला बड़ा हादसासांकेतिक चित्र

पटरी से उतर सकती थी ट्रेन : ड्रायवर की सूझ-बूझ से टला बड़ा हादसा

भोपाल, मध्यप्रदेश : खजूरी सड़क थाना क्षेत्र स्थित बकानिया अप रेलवे ट्रेक पर बुधवार दोपहर भोपाल दाहोद पैसेंजर के पायलेट की सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से पहले ही टल गया।

भोपाल, मध्यप्रदेश। खजूरी सड़क थाना क्षेत्र स्थित बकानिया अप रेलवे ट्रेक पर बुधवार दोपहर भोपाल दाहोद पैसेंजर के पायलेट की सूझबूझ से बड़ा हादसा होने से पहले ही टल गया। दरअसल, चिरायु अस्पताल के पीछे रेलवे ट्रैक पर किसी शरारती तत्व ने लोहे के पाइप का टुकड़ा रख दिया था। पायलेट को टुकड़ा काफी दूर से नजर आया और उसने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए। इमरजेंसी ब्रेक लगने से यात्रियों में अफरातफरी का माहोल बन गया। करीब दस मिनट तक ट्रेन यहां खड़ी रही फिर स्टेशन मास्टर समेत रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देने के बाद ट्रेन को रवाना किया गया। खजूरी पुलिस ने उक्त मामले में रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर की शिकायत पर अज्ञात आसामाजिक तत्व पर 152 रेल एक्ट की धारा में प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस और आरपीएफ की टीम अपने-अपने स्तर पर ट्रेक पर लोहे का पाइप रखने वाले आरोपी की तलाश कर रही है।

पुलिस के अनुसार गुरुमुख शरण श्रीवास्तव रेलवे में सीनियर सेक्शन इंजीनियर है। उन्होंने पुलिस को शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि बुधवार करीब सवा 1 बजे के आसपास भोपाल दाहोद पैसेंजर बकानिया अप रेलवे ट्रैक से भौंरी होते हुए निकलने वाली थी। इस दौरान बकानिया अप ट्रैक पर ट्रेन के पायलेट की नजर पड़ी तो उसने करीब पांच सौ मीटर पहले ही रेलवे ट्रैक पर पाइप का टुकड़ा देखकर इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए। इमरजेंसी ब्रेक लगाने के बाद ट्रेन समय पर रुक गई नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। इसके बाद ट्रेन के पायलेट ने पाइप का टुकड़ा उठाकर इंजन में रख लिया। घटना की जानकारी सीहोर स्टेशन मास्टर, आरपीएफ समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। पाइप का टुकड़ा करीब तीन फिट के आसपास का बताया जा रहा है। पुलिस आस पास के रहवासियों से पूछताछ कर आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.