Bhopal : बीएमएचआरसी की लिफ्ट में घंटों फंसी रही महिला, हंगामे के बाद निकल पाई बाहर

भोपाल, मध्यप्रदेश : राजधानी के सबसे बड़े गैस राहत अस्पताल बीएमएचआरसी में मंगलवार को एक महिला लिफ्ट में फंस गई। बाद में परिजनों के हंगामे के बाद उसे सुरक्षित बाहर निकाला जा सका।
बीएमएचआरसी की लिफ्ट में घंटों फंसी रही महिला
बीएमएचआरसी की लिफ्ट में घंटों फंसी रही महिलाSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। राजधानी के सबसे बड़े गैस राहत अस्पताल बीएमएचआरसी में मंगलवार को एक महिला लिफ्ट में फंस गई। बाद में परिजनों के हंगामे के बाद उसे सुरक्षित बाहर निकाला जा सका। वहीं इस मामले में परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर मदद नहीं करने का आरोप लगाया है। जबकि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से लिफ्ट के चालू हालत में होने की सफाई दी गई है। दरअसल यह वाकया जेपी नगर निवासी प्रमिला शर्मा के साथ हुआ। प्रमिला अपनी वृद्ध मां को दिखाने के लिए दोपहर करीब 1 बजे भोपाल मेमोरियल अस्पताल पहुंचीं थीं, जहां ऊपरी मंजिल पर जाने के लिए वे लिफ्ट में सवार हुईं। प्रमिला के मुताबिक लिफ्ट बीच में जाकर अचानक रूक गई। उन्होंने दरवाजा खोलने की कोशिश की लेकिन वह नहीं खुला। इससे घबराई प्रमिला ने अंदर शोर मचाना शुरू किया। लेकिन उनकी आवाज बाहर तक नहीं आ पाई। फिर उन्होंने फोन लगाने की कोशिश की लेकिन लिफ्ट के अंदर नेटवर्क नहीं मिलने से फोन भी नहीं लग पा रहा था, आखिर में जैसे-तैसे उनका अपने बेटे से फोन पर संपर्क हो गया, और प्रमिला ने उसे लिफ्ट में फंसे होने की खबर दी। तब कहीं जाकर उनके बेटे ने अस्पताल पहुंचकर उन्हें अस्पताल स्टाफ की मदद से लिफ्ट से बाहर निकाला, तब तक उनकी हालत काफी खराब हो चुकी थी, हालांकि वे सुरक्षित थी।

परिजनों ने किया हंगामा :

मौके पर अपनी मां को बचाने अस्पताल पहुंचे प्रदीप शर्मा का कहना है कि यहां स्टाफ ने उनकी मदद करने में कोई रूचि नहीं दिखाई। उनके मुताबिक गार्ड यह बताने तक को तैयार नहीं थे कि लिफ्ट के अंदर कोई फंसा है, या नहीं और लिफ्ट कौन खोलेगा। बकौल प्रदीप इसके बाद उन्होंने यहां लिफ्ट खोलने के लिए प्रबंधन तक अपनी शिकायत पहुंचाई। परिजनों और अन्य लोगों के हंगामे के चलते आनन-फानन में लिफ्ट खुलवाई गई, और महिला की जान बच सकी।

सोमवार को जेपी की लिफ्ट में फंसे थे बच्चे : इससे पहले सोमवार को जेपी अस्पताल की लिफ्ट में दो बच्चों के फंस जाने का मामला सामने आया था। यहां 5 और 8 साल के दो बच्चे खेलते-खेलते लिफ्ट में चले गए थे, बटन दबाते ही लिफ्ट बंद हो गई थी और दोनों बच्चे उसमें फंस गए थे। जिसके बाद वे अंदर रोने और चिल्लाने लगे, जिसके बाद मौके पर मौजूद लोगों ने उनकी आवाज सुनकर तुरंत अस्पताल प्रबंधन को सूचना दी। बाद में टैक्निीशियन को बुलाकर बच्चों को सकुशल बाहर निकाला गया। जिस समय यह घटना हुई तब लिफ्ट में ऑपरेटर मौजूद नहीं था। हालांकि अस्पताल अधीक्षक ने इसके बाद मामले की जांच और दोषी पर कार्रवाई की बात कही थी।

आरोप : कई बार बिगड़ चुकी है लिफ्ट

इस मामले में पीड़ित महिला प्रमिला शर्मा का कहना है कि वह लिफ्ट कई बार पहले भी बिगड़ चुकी है, जिसमें लोग भी फंस चुके हैं, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जाता, इसी वजह से उनके साथ मंगलवार को यह घटना हुई। वहीं प्रबंधन का कहना है कि लिफ्ट चालू हालत में है। हालांकि महिला के उसमें फंसने के मामले और लिफ्ट के रखरखाव के मामले में जिम्मेदार चुप्पी साधे नजर आ रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co