Raj Express
www.rajexpress.co
कक्षाओं में बच्चें है नदारद
कक्षाओं में बच्चें है नदारद|Social Media
मध्य प्रदेश

भोपालः राजधानी के स्कूलों से क्यों हो रहे 'बच्चे लापता'

भोपाल,मध्यप्रदेशः राजधानी के स्कूलों में स्कूली बच्चे हो रहें है लापता, अब तक 5 वर्षो में 20 हजार बच्चों के लापता होने के आंकड़े आए सामने।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पांच साल के बीच करीब 20 हजार बच्चों के लापता होने के आंकड़े सामने आए। जिसमें स्कूल की उपस्थिति रजिस्टर में इन बच्चों के नाम तो दर्ज हैं लेकिन उपस्थिति कक्षाओं में नदारद हैं। इन्हें खोजने के लिए अफसरो और संबंधित अधिकारियों को सूची सौंपी गई थी जिसमें वार्डो के नामों के दिए गए हैं, लेकिन बच्चा कहां रहता है संबंधित पते नहीं है।

बीआरसीसी को थमाई बिना पते की सूचीः

राज्य शिक्षा केन्द्र के बताया कि, वर्ष 2013 से अब तक के आंकड़ो की मानें तो 20 हजार बच्चे ऐसे है जिनका नाम स्कूलों में दर्ज है और दाखिला हुआ है,लेकिन प्रतिदिन स्कूलों में अध्ययन के लिए नहीं पहुंच रहे हैं। इस मामले पर तुरंत कार्रवाई कर शिक्षा केंद्र ने बीआरसीसी को वार्डो के अनुसार सूची सौंपी गई ।

बीआरसीसी का कहना है, कि जो सूची सौंपी गई, उसमें सिर्फ वार्डों के नाम दिए गए हैं कि बच्चे कहां रहते हैं लेकिन इन वार्डो में एक वार्ड में तीन से चार कॉलोनियां है जिसमें बच्चों को बिना पते के ढूंढ पाना मुश्किल है केवल मोबाइल नंबर दिए गए हैं इनमें से कुछ नंबर बंद बता रहे और कुछ नंबरों पर संपर्क हो रहा है तो उनका कहना है कि बच्चा स्कूल से पढ़ाई खत्म कर चुका है।