इंदौर : बर्ड फ्लू-अब तक 20 हजार से अधिक का हुआ सर्वे, 4 और कौवे मरे
बर्ड फ्लू-अब तक 20 हजार से अधिक का हुआ सर्वे, 4 और कौवे मरेRaj Express

इंदौर : बर्ड फ्लू-अब तक 20 हजार से अधिक का हुआ सर्वे, 4 और कौवे मरे

इंदौर, मध्य प्रदेश : शहर के डेली कॉलेज क्षेत्रों में लगातार कौवों की मौतों का सिलसिला जारी है। मंगलवार को यहां चार और कौवे मृत पाए गए, जिनके सेंपल लेकर उन्हें गहरे गड्ढे में दफना दिया गया है।

इंदौर, मध्य प्रदेश। शहर के डेली कॉलेज क्षेत्रों में लगातार कौवों की मौतों का सिलसिला जारी है। मंगलवार को यहां चार और कौवे मृत पाए गए, जिनके सेंपल लेकर उन्हें गहरे गड्ढे में दफना दिया गया है। अब तक करीब 164 कौवों की मौत इस क्षेत्र में हो चुकी है। इनमें जांच के बाद एच5एन8 यानि एवियन इन्फ्लूएंजा की पुष्टि हुई थी।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा एहतियात के बतौर डेली कॉलेज से लगे क्षेत्रों में पांच किलोमीटर लोगों का सर्वे शुरू किया गया था। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा किए जा रहे सर्वे में अब तक 4 हजार 393 घरों में रहने वाले 20 हजार 433 लोगों का सर्वेक्षण किया जा चुके हैं। सर्वेक्षण टीम ने इनमें से केवल 25 लोगों को खांसी और सर्दी से पीडि़त पाया है। बर्ड फ्लू यानि एवियन इन्फ्लूएंजा के लक्षण किसी में भी नहीं मिले हैं।

70 हजार लोगों का होगा सर्वे :

सर्वेक्षण प्रभारी डॉ. अनिल डोंगरे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की 7 टीमों द्वारा सर्विलांस एरिया में सर्वे किया जा रहा है। इसमें करीब 70 हजार लोगों का सर्वे किया जाएगा। इस सर्वेक्षण में डेली कॉलेज के चारों ओर के एक-एक किलोमीटर क्षेत्र में सर्वे किया जा रहा है। यह सर्वेक्षण मुख्यता मूसाखेड़ी, पालदा नाका, आजाद नगर, रेजीडेंसी, स्नेहलतागंज और चौहान नगर इलाके में किया गया। बर्ड फ्लू या एवियन इन्फ्लूएंजा के लक्षणों के साथ कोई भी नहीं मिला। सर्वेक्षण अगले कुछ दिनों तक जारी रहेगा क्योंकि हम क्षेत्र के हर घर तक पहुंचने की कोशिश करेंगे।

जू में लगातार जारी है निगरानी :

डेली कॉलेज के आसपास के एरिया के साथ ही नवलखा स्थित कमला नेहरू प्राणी संग्राहलय को भी सर्विलांस एरिया मानते हुए यहां दवाइयों का छिड़काव मंगलवार को भी किया गया। साथ ही बाहर से कोई पक्षी, जू के पक्षियों के बाड़े में न आए, इसको लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। पक्षियों को एंटी वायरल दवा के साथ ही इम्यूनिटी बढ़ाने वाली दवाएं दी जा रही है। बर्ड फ्लू का असर इंदौर के अलावा संभाग के अन्य जिलों खंडवा, मंदसौर, बड़वानी, खरगोन, नीमच में भी दिखना शुरू हो गया है। इसके चलते पूरे संभाग में सतर्कता बढ़ा दी गई है। मंदसौर में सबसे ज्यादा पक्षियों की मौत के बाद शहर के चिकनशॉप को बंद कराया जा रहा है और सभी क्षेत्रों में पोल्ट्री फार्म पर विशेष नजर रखी जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co