मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ|Social Media
मध्य प्रदेश

भाजपा ने कमलनाथ को बताया 'चीन का एजेंट'

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को भाजपा ने बताया "चीन का एजेंट"। कहा- कमलनाथ केंद्रीय वाणिज्य मंत्री रहते हुए चीन के एजेण्ट बनकर काम कर रहे थे।

Aditya Shrivastava

मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ पर भाजपा ने निशाना साधते हुए चीन का एजेंट बताया है। भाजपा ने कहा, कमलनाथ जी मंत्रालय के दस्तावेजों से शर्मसार करने वाली सच्चाई सामने आयी है। चीन ने राजीव गांधी फ़ाउंडेशन को पैसे दिए, उन पैसों के एवज में काँग्रेस सरकार और वाणिज्य मंत्री कमलनाथ ने ‘व्यापारिक समझौतों’ के नाम पर चीन के आगे ‘घुटने टेक’ भारतीय लघु उद्योगों का गला घोंटा।

पूर्व मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि कमलनाथ जी, चीन को व्यापारिक राहतें देकर आपने भारत के करोड़ों महत्वाकांक्षी व्यवसायियों के सपनों की हत्या कर दी, आपने अपने मालिकों की ख़ुशी के लिए ‘चीन का एजेंट’ तक बनने में कोई हिचक नहीं दिखायी। आज देश के कुम्हार, लोहार और कारीगरों समेत विभिन्न छोटे व्यापारी आपसे जवाब चाहते हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने मीडिया ने चर्चा कर कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि, राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से राशि मिलने का बड़ा खुलासा हुआ है। इसमें तत्कालीन वाणिज्य मंत्री के तौर पर रहे कमलनाथ की बड़ी भूमिका रही है। उन्होंने कई वस्तुओं पर आयात शुल्क कम करके उनके चीन से आयात की मंजूरी दी, जबकि वे चीजें देश में ही भरपूर मात्रा में उपलब्ध थी। यदि यह कहा जाए कि कमलनाथ चीन के एजेंट के रूप में वाणिज्य मंत्री बनकर कार्य कर रहे थे तो कोई गलत नहीं होगा।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि अपने व्यक्तिगत लाभ के लिये देश और देशवासियों का नुकसान करना कोई कमलनाथ जी से सीखे। मुझे अब आश्चर्य नहीं होता कि उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए मध्यप्रदेश में 15 महीनों में जनता के हित के काम ना करते हुए सिर्फ भ्रष्टाचार किया। भ्रष्टाचार उनकी पुरानी आदत है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co