इंका नेता यादव सलोनी पटवा के खिलाफ ज्ञापन सौपते हुए
इंका नेता यादव सलोनी पटवा के खिलाफ ज्ञापन सौपते हुए |Gopal Mavar-RE
मध्य प्रदेश

पटवा की सेलिब्रेशन पार्टी के मामले में भाजपा-कांग्रेस मैदान में आई

दोषियों को खिलाफ कार्यवाही करने कि की मांग, एसडीएम ने जांच का दिलाया भरोसा।

Gopal Mavar

Gopal Mavar

राजएक्सप्रेस। नायब तहसीलदार की सेलिब्रेशन पार्टी शहर में बनी चर्चा का विषय। 62 दिनों से नियम का पालन कराने वाली अधिकारी ने नियम को ताक में रखकर शहर से 6 किमी दूर पार्टी के आयोजन को लेकर भाजपा कांग्रेस दोनों ही इनकी मनमानी को लेकर मैदान में आ गए हैं। इंका नेता चेतन यादव ने ज्ञापन दिया, भाजपा मंडल अध्यक्ष ने अधिकारियों से चर्चा कर मामले की जांच कराने की मांग की। एसडीएम ने मामला की जांच कराने का दिया आश्वासन।

नायब तहसीलदार सलोनी पटवा के जन्मदिन पर 40-50 लोगों की सेलिब्रेशन पार्टी पर भले ही वह कितनी ही सफाई दें, लेकिन पार्टी उनके गले की हड्डी बन सकती है। मीडिया में मामला आने के बाद भाजपा-कांग्रेस दोनों ही इस मामले में ऐसे अधिकारी पर कार्यवाही करने को लेकर मैदान में आ गए हैं। कांग्रेस नेता चेतन यादव ने कांग्रेस नेताओं के साथ एसडीएम आरपी वर्मा के यहां जाकर उन्हें ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की। यादव ने बताया की अधिकारी सफाई दे रही हैं कि उन्होंने गरीबों के लिए खाना बनवाया था और रात 9:30 बजे के बाद खाना वितरित करवाया। गरीबों को खाना बांटने के लिए शहर के बाहर 6 किमी दूर एक फार्म हाऊस ही क्यों चुना। फिर गरीब तो शाम को 7 बजे की खाना खा लेते हैं। शहर की कई सामाजिक संस्थाएं खाना बांटकर रात 8 बजे फ्री हो जाते हैं। तो रात में 9:30 बजे के बाद अपने बचाव के लिए नवीन बस स्टैंड पर चार लोगों को खाना बांटकर फोटो वीडियो बनाया ताकी उनकी गलती छुपा सकें।

अपना काम आया तो धरा रह गया लॉकडाऊन

इस संबंध में भाजपा मंडल अध्यक्ष सीएम अतुल ने एसडीएम आरपी वर्मा से चर्चा कर बताया कि लगातार लॉकडाऊन पालन कराने के नाम से कई बड़े-छोटे व्यापारियों के साथ अभद्रता कर उनका अपमान करने की कई शिकायतें नायब तहसीलदारों की मिली है। इसके साक्ष्य भी मेरे पास हैं। जब शहर के प्रतिष्ठित लोगों को लॉकडाऊन के नाम पर प्रताड़ित किया और जब अपना जन्मदिन आया तो लॉकडाऊन धरा रह गया और 40-50 लोगो की पार्टी रखकर नियमों की धज्जियाँ उड़ाने की बात सामने आ रही है। मामले में एसडीएम वर्मा से अनुरोध किया कि मामला गंभीर है इसकी जांच कर दोषियों पर कार्यवाही की जाना चाहिए।

दाह संस्कार में 20 लोग, शादी में 10 लोग और अधिकारियों की पार्टी हो तो 50 लोग

खबर सोशल मीडिया पर चलने के बाद कई कमेंट्स आ रहे हैं। यदि नायब तहसीलदार है तो लॉकडाऊन में भी 40-50 व्यक्तियों की पार्टी फार्म हाऊस पर की जा सकती है। आम नागरिक है तो जुर्माने की रसीद या फिर पुलिस में प्रकरण दर्ज किया जाएगा। आज पता चला है कि कानून बस आम जनता के लिए होता है। सरकारी नौकरी वालो के लिए कोई कानून व सजा नहीं पर इन्हें यह नहीं भूलना चाहिए की ऊपर वाला सब देख रहा है। नारी ही नारी शक्ति को बीच सड़क पर उठक-बैठक लगाकर प्रताड़ित करे। यह भी कमेंट्स आया की दाह संस्कार में 20 लोग, शादी में 10 लोग और अधिकारियों की पार्टी हो तो 50 लोग।

इनका कहना

सेलिब्रेशन पार्टी की शिकायत मिली है। मामले की जांच कराई जाएगी।

आरपी वर्मा, एसडीएम नागदा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co