मप्र सदस्यता अभियान का अंतिम दिन
मप्र सदस्यता अभियान का अंतिम दिन|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

BJP का सदस्यता अभियान कामयाब, पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता की घर वापसी

मप्र सदस्यता अभियान का अंतिम दिन : मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता को फिर से भाजपा में शामिल किया।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। प्रदेश के ग्वालियर में 22 से 24 अगस्त तक तीन दिवसीय मप्र सदस्यता अभियान 2020 का आज आखिरी दिन है। आज मुख्यमंत्री ने मेला ग्राउंड, ग्वालियर में आयोजित भाजपा प्रदेश के सदस्यता ग्रहण समारोह में वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ भाग लिया, वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता को फिर से भाजपा में शामिल किया।

ग्वालियर की पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता की हुई घर वापसी :

सीएम शिवराज सिंह ने बीजेपी में पूर्व महापौर समीक्षा गुप्ता का एक बार फिर स्वागत किया है, सीएम शिवराज ने समीक्षा गुप्ता को बीजेपी दिलाई। उनकी घर वापसी पर एक तरह से बीजेपी का मध्यप्रदेश सदस्यता अभियान 2020 कामयाब होता दिख रहा है। वहीं बता दें कि समीक्षा गुप्ता के साथ ही ग्वालियर-चंबल संभाग में 35 हजार से ज्यादा कांग्रेसी कार्यकर्ता पार्टी छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए हैं। वहीं भाजपा ने बताया कि ये अभियान सफल रहा है।

मप्र सदस्यता अभियान में भाजपा का दावा :

बता दें कि अभियान का आज आखिरी दिन है बीते 2 दिन में कांग्रेस के 40 हजार से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने भाजपा की सदस्यता ली है, वहीं बीजेपी ने दावा किया है कि सोमवार की शाम तक ये आंकड़ा 60 हजार के पार हो जाएगा। आगामी दिनों में प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में 16 सीटें ग्वालियर-चंबल संभाग में हैं।

मप्र सदस्यता अभियान का अंतिम दिन
मप्र सदस्यता अभियान का अंतिम दिनSocial Media

इस अभियान में दोनो पार्टी नेताओं ने एक दूसरे पर कसे तंज :

वहीं मुख्यमंत्री ने इस अभियान में कहा है कि सोनिया जी ने अपने पद से इस्तीफा दिया तो 25 बड़े नेताओं ने उन्हें चिट्ठी लिखकर पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग की। राहुल जी ने उन नेताओं को ग़द्दार घोषित करते हुए उन्हें बीजेपी इंडिया का एजेंट बता दिया! राहुल जी, आपके रहते हुए कांग्रेस कभी आगे नहीं बढ़ पाएगी। आगे कहा कांग्रेस में जो व्यक्ति सोनिया जी और राहुल जी के तलवे चाटे, केवल वही बना रह सकता है, वही वफादार कहलाता है। जो जनता के हित के लिए लड़े, उसे ग़द्दार घोषित कर दिया जाता है।

आगे मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर गांधी परिवार का कब्ज़ा है और प्रदेश स्तर पर नाथ परिवार का कब्ज़ा है। इनके चरणों में गिरे रहो तो काम चलेगा नहीं तो सभी अनाथ हैं! ऐसे वादे किये कि लोग लट्टू हो गये। राहुल भैया आये और किसानों से कहा कि दस दिन में कर्जा माफ होगा, नहीं तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा। न किसानों का कर्जा माफ हुआ और न युवाओं से किया रोजगार और बेरोजगारी भत्ता का वादा पूरा हुआ।

आपकी जिंदगी बदलना ही मेरे जीवन का उद्देश्य : सीएम

मुख्यमंत्री ने अभियान ने तमाम मुद्दे को लेकर बयान दिया है वहीं कहा है कि तीन साल में घर-घर नल का जल पहुंचाने का सकंल्प है। गरीबों को 1 एक रुपये किलो गेहूं, चावल और नमक हमारी सरकार देने का काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम गरीब परिवारों की बेटियों की शादी के लिए 25 हजार रुपये देते थे। कमलनाथ जी ने कहा कि हम 51 हजार रुपये देंगे। लेकिन शादी के बाद बेटियां मां बन गई हैं, लेकिन कमलनाथ जी का रुपया आज तक बेटियों के खाते में नहीं पहुंचा। ऐसे कही मुद्दे बने चर्चा के विषय।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co