आधा दर्जन गांवों में आंधी तूफान से केला फसल तबाह
आधा दर्जन गांवों में आंधी तूफान से केला फसल तबाहRaj Express

Burhanpur : आधा दर्जन गांवों में आंधी तूफान से केला फसल तबाह

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश : किसानों की केला फसल कुछ दिन में तैयार होने वाली थी। इससे पहले आंधी तूफान के कारण पूरी फसल खेतों में बिछ गई। जिससे लाखों की फसल बर्बाद हो गई।

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश। बुधवार को आए तेज आंधी तूफान ने शाहपुर क्षेत्र के सैकड़ों किसानों को खून के आंसू रोने पर विवश कर दिया। दरअसल इन किसानों की केला फसल कुछ दिन में तैयार होने वाली थी। इससे पहले आंधी तूफान के कारण पूरी फसल खेतों में बिछ गई। केले के पौधे टूटकर और उखड़ कर गिर गए। जिससे लाखों की फसल बर्बाद हो गई।

उल्लेखनीय है कि किसान पहले ही सीएमवी वायरस के चलते परेशान हैं। कई किसानों को इस वायरस के चलते लाखों रुपये के पौधे उखाड़ कर फेंकने पड़ रहे हैं। इसके बाद आंधी तूफान ने किसानों को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है। हालांकि सूचना मिलने के बाद गुरुवार को राजस्व विभाग की टीमें खेतों में पहुंचीं और नुकसानी का जायजा लिया। एसडीएम दीपक सिंह चौहान ने बताया कि गुरुवार से ही राजस्व विभाग की टीम ने सर्वे का काम शुरू कर दिया है। आंधी तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान शाहपुर क्षेत्र के

फोपनार, बाराडोली, गुराड़ा संग्रामपुर आदि गांवों में हुआ है।

दूसरी ओर भाजपा की प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व मंत्री अर्चना चिटनिस ने भी कलेक्टर प्रवीण सिंह से जल्द सर्वे पूरा करा मुआवजा वितरण की मांग की है। उन्होंने कहा कि नुकसानी का सर्वे करा तत्काल किसानों को मुआवजा राशि वितरित कराई जाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केबिनेट की बैठक में केला फसल के मुआवजे को लेकर संशोधन प्रस्ताव पास किया है। जिसके बाद आरबीसी के नियमों में बदलाव हुआ है। अब केला फसल को नुकसान होने पर राहत राशि प्रति हेक्टेयर की जगह प्रति पौधे के मान से देने का प्रावधान किया गया है।

क्या कहना है इनका :

कुछ क्षेत्रों में बुधवार देर रात को आंधी तूफान से केले की फसल को भारी नुकसान हुआ है। पटवारी व आर आई के माध्यम से प्रभावित हुई फसलों का सर्वे किया जा रहा है, जिसकी रिपोर्ट बनाकर तत्काल उच्च अधिकारीयों तक भेजी जाएगी।

दिपकसिंह चौहान, एसडीएम बुरहानपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co