Raj Express
www.rajexpress.co
दलित दूल्हे को मंदिर में जाने से रोका
दलित दूल्हे को मंदिर में जाने से रोका|Social Media
मध्य प्रदेश

सवर्णों ने दिखाई दबंगई, दलित बारात को मंदिर जाने से रोकने पर बवाल

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश : आज भी देश में ऊंच-नीच का भाव देखने को मिल रहा है ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले से सामने आया है जहाँ दलित दूल्हे को मंदिर में जाने से रोका गया।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

हाइलाइट्स

  • मामला बुरहानपुर जिले के बिरोडा गांव का

  • बुरहानपुर में दलित दूल्हे को मंदिर में प्रवेश से रोका गया

  • इस मामले की जानकारी मिलते ही प्रशासन में फैल गई सनसनी

  • कलेक्टर ने दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के दिये निर्देश

राज एक्सप्रेस। आज भी देश में ऊंच-नीच का भाव देखने को मिल रहा है। ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले से सामने आया है। दरअसल बुरहानपुर जिले के ग्राम बिरोदा में लोगों की संकीर्ण मानसिकता का शिकार दलित वर्ग का दूल्हा संदीप गवाले हो गया। विवाह की खुशियां थीं। गांव में बारात निकाली गई थी। दूल्हा विवाह संपन्न होने से पहले गांव के ही हनुमान मंदिर में पूजा करना चाहता था। घोड़े पर बैठा दूल्हा, नाचते, गाते हुए बाराती हनुमान मंदिर के पास पहुंचे। यहां पर मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना घटी।

ताला लगाकर दलित दूल्हे को मंदिर में जाने से रोका
ताला लगाकर दलित दूल्हे को मंदिर में जाने से रोका
Social Media

दो घंटे खड़ी रही बारात

दूल्हा घोड़े से उतरा और मंदिर में पूजा करने के लिए जाने लगा तो गांव के बदमाशों ने मंदिर पर ताला लगाकर दूल्हे को अंदर जाने से रोक दिया। बारातियों में पहले तो खामोशी छा गई, लेकिन बाद में सभी आक्रोशित हो गए और ताला खुलवाने की मांग की, दो घंटे तक बाराती मंदिर के बाहर डटे रहे और ताला खुलवाकर ही माने। मंदिर में ताला लगा दिए जाने के कारण विवाह का मुहूर्त भी टल गया था। इस मामले की जानकारी मिलते ही प्रशासन में सनसनी फैल गई। बात कलेक्टर तक जा पहुंची। मौके पर एसडीएम काशीराम बड़ोले सहित लालबाग थाने से प्रभारी विक्रमसिंह बामनिया जवानों के साथ पहुंचे ताला खुलवाया और समाजजन की बात सुनी।

"मामले में कलेक्टर राजेश कौल ने कहा-इसकी शिकायत मिलने पर हम दोषियों पर कार्रवाई करेंगे, जो घटना हुई है गलत है"

राजेश कौल कलेक्टर

सामुदायिक भवन नहीं बनवा रहे:

दूल्हा संदीप गवाले ने कहा- आज देश तरक्की कर रहा है, लेकिन आज भी संकीर्ण मानसिकता वाले लोग हैं। इस तरह की हरकतों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन को कार्रवाई करना चाहिए। समाजजन ने कहा भी गांव में छूआछूत और जात-पात का भेदभाव कर रहे हैं। जबकि देश अब आगे बढ़ चुका है। लोगों की सोच बदल गई है। इस ओर ठोस कदम उठाए जाने चाहिए। समाजजन ने कहा हमसे भेदभाव किया जा रहा है। हमने समाज के सामुदायिक भवन के लिए भी आवेदन दिया, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। सामुदायिक भवन बनेगा तो समाजजन को सुविधा होगी। गुरूवार को हुई घटना के बाद गांव में विरोध हुआ। समाजजन ने सवर्णो पर दबंगाई करने, जातिवाद फैलाने का आरोप लगाया।

"ग्राम के दबंगों के द्वारा पूर्व में विवाह हेतु सामुदायिक भवन दिये जाने का भी मना कर दिया था, जिसकी शिकायत हमारे द्वारा कलेक्टर को की गई थी। आज भी शादी के दिन पूजन करने जाने पर मंदिर ट्रस्ट के द्वारा मंदिर बंद कर दिया गया। यह न्यायोचित नहीं है हमारे द्वारा इसकी शिकायत की जायेगी "

संदिप गवाले, दूल्हा

ग्राम से मंदिर बंद किये जाने की शिकायत मिली है, मौके पर पुलिस जवानों को भेजकर मामला शांत करवाया गया है, पीड़ित पक्ष की शिकायत के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

विक्रमसिंह बामनिया, लालबाग थाना प्रभारी

मामले की जांच करने हेतु लालबाग थाना प्रभारी को निर्देशित किया गया है, निष्पक्ष जांच कर आगे की कार्रवाई की जायेगी।

काशीराम बडोले, अनुविभागीय अधिकारी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।