Burhanpur : अव्यवस्थाओं के बीच नेहरू स्टेडियम में टैलेंट सर्च शुरू
अव्यवस्थाओं के बीच नेहरू स्टेडियम में टैलेंट सर्च शुरूRaj Express

Burhanpur : अव्यवस्थाओं के बीच नेहरू स्टेडियम में टैलेंट सर्च शुरू

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश : खेल प्रतिभाओं को प्रशिक्षित कर तराशने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया टैलेंट सर्च अभियान जिले में पहले दिन ही विवादों और आरोपों से घिरा रहा।

हाइलाइट्स :

  • शुद्ध पेयजल और खिलाड़ियों के बैठने के लिए टेंट तक नहीं लगाया

  • पहले दिन 150 खिलाड़ियों की फिटनेस जांची, भोपाल से होगा चयन

बुरहानपुर, मध्यप्रदेश। खेल प्रतिभाओं को प्रशिक्षित कर तराशने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया टैलेंट सर्च अभियान जिले में पहले दिन ही विवादों और आरोपों से घिरा रहा। खेल विभाग और नगर निगम आयोजन स्थल नेहरू स्टेडियम में उचित व्यवस्थाएं नहीं करा पाए। स्थिति यह थी कि बैठने के लिए टेंट अथवा अन्य छायादार स्थान नहीं होने के कारण खिलाड़ियों को चिलचिलाती धूप में बैठना पड़ा। उनके लिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की जगह खेल विभाग ने नगर निगम का टैंकर खड़ा करा दिया था। जिसका पानी धूप के कारण कुछ ही देर में गर्म हो गया था। इसके अलावा आयोजन से पहले खेल मैदान की ठीक तरह से सफाई तक नहीं कराई गई थी। जिसके कारण खिलाड़ियों के पैर में पत्थर चुभते रहे। खेल मैदान में विचरण कर रहे आवारा मवेशियों को खिलाड़ी और खेल शिक्षक दिनभर भगाते नजर आए। मेडिकल टीम के नाम पर वार्डब्वाय को दिखावे के लिए बैठाया गया था।

हालांकि जिला खेल अधिकारी आरजी बांगरिया ने आरोपों को नकारा है। उनके मुताबिक नगर निगम के स्टेडियम में उच्च स्तरीय व्यवस्थाएं नहीं होने के बावजूद काफी हद तक बेहतर व्यवस्थाएं बनाई गई थीं। उल्लेखनीय है कि यह कोई पहला मामला नही है। खेल अधिकारी आर जी बांरगरीया का जब से जिले में स्थानांतरण हुआ है तभी से वे लगभग प्रत्येक स्पर्धा में विवादित रहे हैं, परंतु आज दिनांक तक किसी भी जिले के वरिष्ठ अधिकारी ने उनके विरूद्ध कोई कड़ी कार्रवाई नहीं की, जिसका फायदा उठाते हुए उनके द्वारा इस तरह जिले के खिलाड़ियों के साथ व्यवहार किया जा रहा है।

खेल अधिकारी ने बताया कि टैलेंट सर्च के लिए 443 खिलाड़ियों ने ऑनलाइन आवेदन किए थे। जिसके चलते जिला स्तरीय फि टनेस जांच का काम तीन दिन 27 से 29 अगस्त तक चलेगा। शुक्रवार को पहले लिए 150 खिलाड़ियों को बुलाया गया था। जिनकी भोपाल से मिली गाइड लाइन के हिसाब से फि टनेस जांच कर डाटा भोपाल भेजा जा रहा है। वहां से मेजरमेंट के हिसाब से तय किया जाएगा कि कौन से खिलाड़ी संभाग स्तरीय टैलेंट सर्च के लिए चयनित किए गए हैं। शुक्रवार को तीरंदाजी, दौड़, कुश्ती, वॉलीबाल, तैराकी, डिप्स आदि के खिलाड़ी फिटनेस टेस्ट देने पहुंचे थे।

शाहपुर से आए पच्चीस खिलाड़ी लौटे :

टैलेंट सर्च के लिए आवेदन करने वाले शाहपुर के सूर्यकुंज एकेडमी के करीब 25 खिलाड़ी खेल शिक्षक शुभम महाजन के साथ यहां पहुंचे थे। मैदान में बैठने के लिए व्यवस्था नहीं होने सहित अन्य अव्यवस्थाओं के कारण सभी खिलाड़ी कुछ देर बाद ही लौट गए। इस मामले में खेल अधिकारी का कहना है कि शाहपुर के कुछ बच्चों का शुक्रवार का शेड्यूल था, जबकि कुछ का अन्य दिन था। खेल शिक्षक एक दिन में ही सभी का फिटनेस टेस्ट कराना चाहते थे, जो संभव नहीं था। जिसके चलते वे स्वेच्छा से चले गए।

विवाद सुलझाने बुलानी पड़ी पुलिस :

टैलेंट सर्च के पहले दिन ही खेल विभाग को एक विवाद सुलझाने के लिए कोतवाली पुलिस बुलानी पड़ी। दरअसल बाल व्यायाम शाला प्रतापपुरा के तीन खिलाड़ियों ने भी आवेदन किया था। वे प्रशिक्षक सचिन धावे के साथ यहां पहुंचे तो विभागीय अधिकारियों ने सूची में उनका नाम नहीं होने की बात कही। जिस पर प्रशिक्षक ने खेल अधिकारी से सूची दिखाने के लिए कहा, लेकिन वे सूची दिखाने तैयार नहीं हुए। जिसके चलते विवाद की स्थिति बन गई। विभाग ने कोतवाली पुलिस को सूचना देकर बुला लिया। पुलिसकर्मियों ने हस्तक्षेप करते हुए खेल अधिकारी को सूची दिखाने के लिए कहा, तब जाकर मामला शांत हो पाया।

  • मैदान से मवेशीयों को भगाते हुए।

    मैदान से मवेशीयों को भगाते हुए।

  • इस तरह दौड़े खिलाड़ी।

    इस तरह दौड़े खिलाड़ी।

  • धूप में बैठे हुए बच्चे।

    धूप में बैठे हुए बच्चे।

  • पानी का टेंकर।

    पानी का टेंकर।

  • विवाद करते हुए।

    विवाद करते हुए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co