जिले में फलफूल रहे नकली नोटो के कारोबार ने बढ़ाई व्यपारियों की चिंता
जिले में फलफूल रहे नकली नोटो के कारोबार ने बढ़ाई व्यपारियों की चिंतासांकेतिक चित्र

जिले में फलफूल रहे नकली नोटो के कारोबार ने बढ़ाई व्यपारियों की चिंता

सुसनेर, मध्यप्रदेश : जिलेवासियों के लिए सबसे ज्यादा चिंता की बात इसलिए भी है क्योंकि पिछले सप्ताह जीरापुर पुलिस द्वारा नकली नोटों के साथ पकड़ाए दोनों युवक सुसनेर क्षेत्र के ही हैं।

सुसनेर, मध्यप्रदेश। पिछले कुछ महीनों में आगर जिले व जिले से जुड़े अन्य जिलो में नकली नोटों के कारोबार से जुड़े लोगो के पकड़ाए जाने की खबरे सामने आने के बाद क्षेत्र के व्यापारियों में नकली नोटों के चलन को लेकर चिंता का माहौल बना हुआ है। वहीं, इन सब बातों से जिले का पुलिस प्रशासन पूरी तरह बेखबर है। पुलिस प्रशासन की इस तरह की निष्क्रियता ने व्यापारियों व जिलेवासियों की चिंता को और भी बड़ा दिया है। क्योंकि नकली नोटो के कारोबार से जुड़े लोग आगर जिले के होकर ज्यादा सक्रिय है। हालांकि अन्य जिले की पुलिस नकली नोटो के इस गिरोह को पकडऩे के लिए पूरी तरह सक्रिय है। जिलेवासियों के लिए सबसे ज्यादा चिंता की बात इसलिए भी है क्योंकि पिछले सप्ताह जीरापुर पुलिस द्वारा नकली नोटो के साथ पकड़ाए दोनो युवक सुसनेर क्षेत्र के ही है और इस पूरे कारोबार का मास्टरमाइंड भी आगर जिले का ही है। जो कि पुलिस की पहुँच से अभी दूर है। जिले की पुलिस ने भी अभी इस गिरोह को पकड़ऩे के प्रयास शुरू नहीं किये हैं।

उल्लेखनीय है कि कुछ माह पूर्व उज्जैन पुलिस नकली नोटो के मामले में सुसनेर की एक फोटोकॉपी दुकान से दुकान संचालक को पकड़ कर अपने साथ ले गई थी। वहीं आगर में भी पुलिस द्वारा इस तरह के लोगों को पकड़ा गया था। शनिवार 26 जून को जीरापुर पुलिस ने सुसनेर के ग्राम श्यामपुरा के रामचंद्र सोंधिया तथा ग्राम कलारिया के गोकुल सिंह सोंधिया को 2000 के नकली नोट चलाने का प्रयास करते हुए पकड़कर करीब एक लाख के नकली नोट जप्त भी किए थे। जो 30 हजार रुपए के बदले में एक लाख रुपए के नकली नोट लाकर मार्केट में चलाते थे। जिसके बाद से ही इस बात की संभावना बढ़ गई कि इन आरोपियों के द्वारा अपने साथियों के सहयोग से आसपास के क्षेत्रों में भी नोटों को चलाया गया है । पिछले 2 माह की अवधि के दौरान नगरीय क्षेत्र सुसनेर में भी 2000 के नोट बड़ी संख्या में चलाने में आए हैं। इनमें से अधिकांश के नकली नोट होने की संभावना है। जीरापुर पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है मगर सुसनेर पुलिस ने अभी तक यह जानने का प्रयास भी नहीं किया है कि यह आरोपी नक़ली नोट कहां से लाते थे और इन नकली नोटों के चलन में आरोपियों के साथ साथी कौन-कौन हैं।

इनका कहना है :

सुसनेर थाना क्षेत्र के श्यामपुरा और कलारिया के दो ग्रामीणों को जीरापुर पुलिस ने 1 सप्ताह पहले एक लाख रुपये के 2-2 हजार के नकली नोट के साथ पकड़ा था। जिनसे पूछताछ की जा रही है। कई जानकारियां मिली हैं। कुछ लोगों के नाम सामने आए हैं। और भी जानकारी हासिल करने का प्रयास किया जा रहा है कि आरोपियों के द्वारा और किन-किन जगहों पर नकली नोट चलाए गए हैं।

प्रकाश पटेल, थाना प्रभारी, जीरापुर, जिला राजगढ़

नकली नोट वाले मामले की मुझे कोई जानकारी नही है। इस सम्बंध में सुसनेर थाना प्रभारी से जानकारी लेता हूं। अगर मास्टरमाइंड आगर जिले का है तो उसे पकडऩे का प्रयास किया जएगा।

राकेश कुमार सगर, जिला पुलिस अधीक्षक, आगर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co