सचिन बिरला को बिकाऊ कहना निमाड़ की माटी का अपमान : शिवराज सिंह
शिवराज का कमलनाथ को जवाबSyed Dabeer Hussain - RE

सचिन बिरला को बिकाऊ कहना निमाड़ की माटी का अपमान : शिवराज सिंह

खरगोन, मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कांग्रेस विधायक सचिन बिरला के भाजपा में शामिल होने को लेकर कमलनाथ की टिप्पणी पर आपत्ति उठाते हुए कहा कि उन्हें बिकाऊ कहना निमाड़ की धरती का अपमान है।

खरगोन, मध्यप्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन जिले के बड़वाह से कांग्रेस विधायक सचिन बिरला के भाजपा में शामिल होने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की टिप्पणी पर आपत्ति उठाते हुए रविवार को कहा कि उन्हें बिकाऊ कहना निमाड़ की धरती का अपमान है।

खंडवा लोकसभा उपचुनाव के अंतर्गत बड़वाह विधानसभा क्षेत्र के बेड़िया में आयोजित चुनावी सभा के दौरान बड़वाह के कांग्रेस विधायक सचिन बिरला के भाजपा में शामिल होने के उपरांत संबोधित करते हुए श्री चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा ट्विटर पर कुर्सी बचाने के लिए सौदेबाजी की राजनीति और बिक जाने की टिप्पणी का उल्लेख करते हुए कहा कि सचिन बिरला को खरीदने की किसी की ताकत नहीं है। उन्होंने इसे निमाड़ की माटी का अपमान निरूपित करते हुए कहा कि श्री कमलनाथ ने वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था, जहां केवल लेनदेन की सौदेबाजी कर के काम होता था और उनके पास विधायक सचिन बिरला के लिए समय भी नहीं था। ऐसे में सचिन बिरला के पास कोई चारा नहीं था और भारतीय जनता पार्टी को दोष देना गलत है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में आने के उपरांत भाजपा ने पांच साल विपक्ष में बैठने का मन बना लिया था किंतु गलत नीतियों और भ्रष्टाचार के चलते उनकी सरकार गिर गई। उन्होंने कहा कि यही हाल श्री राहुल गांधी ने 'कैप्टन' की पंजाब में अच्छी भली सरकार का किया।

उन्होंने मंच पर सचिन बिरला का स्वागत करते हुए कहा कि बड़ी देर भई नंदलाला, उन्होंने यह भी कहा कि 'कहाँ फंसे थे दुष्टन में'। उन्होंने कहा कि सचिन बिरला ने कमलनाथ से सिंचाई हेतु नर्मदा जल, अपने क्षेत्र के लिए सड़कें और बेड़िया के लिए मॉडर्न मिर्च मंडी की कई बार गुहार लगाई लेकिन कमलनाथ उन्हें पैसा नहीं होने का हवाला देते हुए 'चलो चलो' कर देते थे। उन्होंने प्रश्न किया कि जब राशि नहीं थी तो वह किस बात के लिए मुख्यमंत्री बन गए थे? उन्होंने स्पष्ट किया कि सचिन बिरला को उन्होंने भाजपा में शामिल होने के पूर्व अच्छे से विचार कर लेने का आग्रह किया था, किंतु सचिन अपने विवेक का इस्तेमाल करते हुए निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने बेरोजगारी भत्ता, कर्ज माफी ,स्व सहायता समूह,कन्यादान योजना को लेकर जनता के साथ छल किया तथा संबल जैसी अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद कर गरीबों की आह ले ली। उन्होंने कहा कि उन्होंने इन योजनाओं को पुन: आरंभ कर दिया है। इस अवसर पर कृषि मंत्री कमल पटेल और पूर्व मंत्री रुस्तम सिंह तथा अंतर सिंह आर्य भी मौजूद थे।

मैंने क्षेत्र के विकास के लिए भाजपा का दामन थामा : सचिन बिरला

सभा में भाजपा में शामिल होने वाले सचिन बिरला ने अपने भाषण में कहा कि वे श्री चौहान की विकास के प्रति नीतियों से प्रभावित होकर दुनिया के सबसे बड़े दल में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे कमलनाथ से उनके मुख्यमंत्री रहते क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए मिलते थे, लेकिन उनके कार्य नहीं होते थे। वहीं श्री चौहान छोटी छोटी बातों को भी सुनते हैं और उनका समाधान करते हैं। उनसे प्रभावित होकर और क्षेत्र के विकास के लिए उन्होंने भाजपा का दामन थामा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co