MP चुनाव में जाति प्रमाण पर बन सकता है रोड़ा,  भाजपा ने जताई आपत्ति
MP चुनाव में जाति प्रमाण पर बन सकता है रोड़ाSyed Dabeer Hussain - RE

MP चुनाव में जाति प्रमाण पर बन सकता है रोड़ा, भाजपा ने जताई आपत्ति

भोपाल, मध्यप्रदेश। भोपाल के 85 वार्डों में पार्षद पद के दावेदारों के लिए चल रही है स्क्रूटिनी, स्क्रूटिनी में करीब पांच वार्डों में फर्मो में आपत्ति आई है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। कलेक्ट्रेट में नामांकन की स्क्रूटनी के दौरान तीन वार्डों के कांग्रेस-बीजेपी के अधिकृत प्रत्याशियों के नामांकनों पर आपत्ति आ गई है। दो पर फर्जी जाति प्रमाण पत्र लगाने का आरोप है। इसमें वार्ड 29 से कांग्रेस प्रत्याशी संतोष कंसाना और वार्ड 10 से बीजेपी प्रत्याशी सरोज आसेरी का नामांकन शामिल हैं। जबकि वार्ड 31 से कांग्रेस प्रत्याशी राज सिंह रजनी के नामांकन पर भी आपत्ति आई है। तीनों की सुनवाई मंगलवार को होगी।

भोपाल के 85 वार्डों में पार्षद पद के दावेदारों के लिए चल रही है स्क्रूटनी

दरअसल कलेक्ट्रेट में सभी 85 वार्डों से भराए गए पार्षद के आवेदनों की स्क्रूटनी की गई। निकाय चुनाव में करीब 810 लोगों ने पार्षदी के लिए पर्चा भरा है। हर दावेदार के आवेदन पर बारी-बारी से चर्चा की गई। इस दौरान दावे-आपत्तियां भी ली गईं। कलेक्टर के समक्ष नामांकन फार्मों में लगे सर्टिफिकेटों पर प्रतिद्वंदी दावेदारों ने आपत्ति लगाई। बताया जाता है कि वार्ड 29 से कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी संतोष कंसाना के आवेदन में लगे जाति सार्टिफिकेट पर आपत्ति लेते हुए कहा गया है कि पहले सामान्य था, अब ओबीसी है। इस मामले में श्रीमति कंसाना का कहना है कि वर्ष 2009 के चुनाव में ओबीसी का सर्टिफिकेट लगाकर चुनाव लड़ा, फिर वर्ष 2014 के चुनाव में यह वार्ड सामान्य हो गया तो मैंने सर्टिफिकेट नहीं लगाया। लेकिन अब लगाया तो इसे गलत बताने का औचित्य क्या है, यह आपत्तिकर्ता ही बता सकता है। श्रीमति कंसाना के मुताबिक हरियाणा और मध्यप्रदेश में गुजर समाज ओबीसी वर्ग में आती है। मेरा पुराना सर्टिफिकेट मैन्यूअली था, जिसे वर्ष 2019 में डिजिटल करवाया। एसडीएम ने स्वयं इसकी जांच की और सर्टिफिकेट जारी किया।

बीजेपी के केंडिडेट्स के सर्टिफिकेट पर भी आई आपत्ति :

इधर वार्ड 10 से बीजेपी की ओर से अधिकृत प्रत्याशी सरोज आसेरी के जाति प्रमाण पत्र पर भी आपत्ति आई है। उन पर फर्जी सर्टिफिकेट बनवाने का आरोप लगाया गया है। यह आपत्ति बीजेपी के पूर्व पार्षद और इस चुनाव में बीजेपी के दावेदार रहे महेश मकवाना ने ही लगाई है। उनके मुताबिक सरोज आसेरी ने जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए जो कागज लगाए, वह फर्जी हैं और जब श्रीमति आसेरी हरियाणा से विवाह के बाद भोपाल आईं तो यहां से कैसे सर्टिफिकेट बन गया। अब सभी आपत्तियों की सुनवाई मंगलवार को होगी।

शनिवार को नगर निगम चुनाव का पर्चा दाखिल करने का था अंतिम दिन :

गौरतलब है कि शनिवार को नगर निगम चुनाव का पर्चा दाखिल करने का अंतिम दिन था। पूरे शहर के 85 वार्डों में 810 प्रत्याशियों ने फार्म भरा है। कांग्रेस-बीजेपी के अलावा आप और दूसरे दलों के भी प्रत्याशी मैदान में होंगे।

MP चुनाव में जाति प्रमाण पर बन सकता है रोड़ा
Bhopal : 85 वार्डों में से दो में कांग्रेस-बीजेपी का सीधा मुकाबला

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co