चंबल नदी का रुद्र रुप सिर्फ मंदिर का शिखर नजर आ रहा
चंबल नदी का रुद्र रुप सिर्फ मंदिर का शिखर नजर आ रहा|Priyank Vyas
मध्य प्रदेश

चंबल नदी का रुद्र रुप, चामुंडा माता मंदिर दूसरे दिन भी डूबा रहा

नागदा जं., मध्य प्रदेश : बनबना तालाब के ओव्हरफ्लो नहीं होने से प्रशासन ने ली राहत की सांस। चंबल नदी के रौद्र रूप को देखने ब्रिज पर भीड़ इक्कठी हो गई थी, जिसको नपाकर्मियों ने खदेड़ा।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

नागदा जं., मध्य प्रदेश। चंबल नदी के कैचमेंट एरिया में लगातार बारिश होने के बाद दूसरे दिन भी चामुंडा माता मंदिर पूरी तरह से पानी में डूबा रहा, मंदिर का सिर्फ शिखर नजर आ रहा था। इस मनोहरी दृश्य को देखने के लिए बड़ी संख्या में शहरवासियों की भीड़ उमड़ी, नगरपालिका टीम ने शाम को चंबल ब्रिज पर पहुंचकर सेल्फी लेने वालों को खदेडऩा शुरु कर दिया।

चंबल नदी के कैचमेंट एरिया में लगातार बारिश होने के बाद दूसरे दिन भी चामुंडा माता मंदिर पूरी तरह से पानी में डूबा रहा, मंदिर का सिर्फ शिखर ही नजर आ रहा था। चंबल नदी के लगातार बढ़ते जलस्तर को लेकर प्रशासनिक अमला पूरी तरह से हाई अलर्ट रहा, नगरपालिका के कंट्रोल रुम में कर्मचारी तैनात थे। एसडीएम पुरुषोत्तम कुमार ने शहर क्षेत्र में तो तहसीलदार राजेंद्रकुमार गुहा ने ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश की मॉनीटरिंग की। एसडीएम कुमार के अनुसार बनबना तालाब के ओव्हरफ्लो नहीं होने और शहर में सामान्य बारिश होने से निचली बस्तियों में पानी नहीं घुसा, लेकिन चंबल नदी के लगातार बढ़ते जलस्तर को लेकर नगरपालिका द्वारा बीत रात निचली बस्तियों में मुनादी करा दी थी। तहसीलदार गुहा के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में पटवारी, कोटवार, सरपंचों से लगातार चर्चा कर बारिश पर पैनी नजर रखी जा रही है अभी तक नायन पुलिया पर पानी आने के कारण आधा दर्जन गांव का सम्पर्क शहर से टूटने का मामला सामने आया है। सीएमओ अशफाक खान के अनुसार निचली बस्ती 64 व 56 ब्लाक, गफूर बस्ती, बिरलाग्राम में नाले किनारे बसी टापरियां, मारुति नगर, अंजनी नगर, दयानंद कॉलोनी आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहां जलभराव की संभावना जताई जा रही थी, लेकिन शहर में सामान्य बारिश होने के कारण जलभराव की स्थिति कहीं भी निर्मित नहीं हुई है। सीएमओ खान के अनुसार आपातकालीन स्थिति के लिए नगरपालिका द्वारा कंट्रोल रुम का नंबर 224501 जारी किया गया है जिस पर लगातार दो शिफ्ट में कर्मचारियों को तैनात किया गया है। चंबल नदी के उफान पर होने स लगातार दूसरे दिन भी नायन डेम की पुलिया पर पानी था, जिसके कारण आधा दर्जन का जनसम्पर्क शहर से टूट गया।

बनबना तालाब के नहीं भरने से राहत :

शुक्रवार की दोपहर तीन से बजे बारिश का क्रम शुरु हुआ, जो रविवार की दोपहर थमा, राजस्व विभाग के अनुसार रविवार की दोपहर तक लगभग 7.47 इंच बारिश होना दर्ज किया गया है। जबकि अभी तक 652 एमएम बारिश होना बताया जा रहा है। एसडीएम कुमार ने राजस्व निरीक्षक बसंतसिंह रघुवंशी के साथ निचली बस्तियों, बनबना तालाब, नायन डेम, हनुमान डेम एवं चामुंडा माता मंदिर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। एसडीएम कुमार के अनुसार रविवार की शाम से चंबल नदी का जलस्तर कम हो रहा है, जिससे स्थिति अब विपरीत होने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है।

प्रशासनिक अधिकारियों ने देवदर्शन किया :

एसडीएम कुमार, तहसीलदार गुहा, राजस्व निरीक्षक रघुवंशी ने रविवार को शहर व ग्रामीण क्षेत्रों के पेट्रोलिंग के दौरान डेलनपुर पहुंचे। इस दौरान एसडीएम कुमार ने देवदर्शन के बाद किसानों से चर्चा की। किसानों से एसडीएम को अपनी समस्याओं से अगवत कराया, एसडीएम ने किसानों के समस्या समाधान की बात कही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co