Raj Express
www.rajexpress.co
पीओपी की मूर्तियों को लेकर सख्त हुए कलेक्टर
पीओपी की मूर्तियों को लेकर सख्त हुए कलेक्टर|Sanjay Awasthi
मध्य प्रदेश

छतरपुर: मूर्ति निर्माण में पीओपी के इस्तेमाल पर कलेक्टर ने दिखाई सख्ती

छतरपुर, मध्यप्रदेश : पर्यावरण के लिए जहर साबित होने वाले प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) जैसे पदार्थ से बनने वाली देवी प्रतिमाओं से पर्यावरण को बचाने के लिए कलेक्टर हुए सख्त

Sanjay Awasthi

हाइलाइट्स :

  • पीओपी की मूर्तियों को लेकर सख्त हुए कलेक्टर

  • शांति समिति की बैठक में लोगों से की अपील, कहा पर्यावरण को नुकसान नहीं होने देंगे

  • नवरात्रि पर मिट्टी और घास से पारंपरिक मूर्तियों का निर्माण करें

  • नवरात्रि के दिनों में सुरक्षा और बिजली व्यवस्था को पुख्ता रखने के निर्देश दिए गए

  • विसर्जन के समय दुर्घटना न हो इसके लिए पुलिस की मौजूदगी में विसर्जन कराया जाएगा

राज एक्सप्रेस। पर्यावरण के लिए जहर साबित होने वाले प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) जैसे पदार्थ से बनने वाली देवी प्रतिमाओं से पर्यावरण को बचाने के लिए कलेक्टर मोहित बुंदस अब सख्त नजर आ रहे हैं। उन्होंने शांति समिति की बैठक में आम जनता के सुझाव पर कहा कि, पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली इन मूर्तियों के इस्तेमाल को नवरात्रि के पहले ही रोका जाएगा। उल्लेखनीय है कि, कलेक्टर ने लगभग एक सप्ताह पहले पीओपी प्रतिमाओं के निर्माण पर पाबंदी लगाने संबंधी आदेश जारी किया था लेकिन इस आदेश का जमीनी पालन नहीं हो पा रहा था।

शांति समिति की बैठक में लोगों से की अपील-

शांति समिति की इस बैठक में उन्होने लोगों से अपील करते हुए कहा कि, नवरात्रि पर मिट्टी और घास से पारंपरिक मूर्तियों का निर्माण करें इसके विजर्सन से तालाबों और जलीय जंतुओं को कोई नुकसान नहीं होता। इस बैठक में नगर के गणमान्य नागरिकों ने भी अपने सुझाव रखे। बैठक के दौरान नवरात्रि के दिनों में सुरक्षा और बिजली व्यवस्था को पुख्ता रखने के निर्देश दिए गए।विसर्जन के समय कोई दुर्घटना न हो इसके लिए विसर्जन स्थलों पर पुलिस की मौजूदगी में विसर्जन कराया जाएगा एवं लाइफ गार्ड भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में विधायक सहित गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

विधायक ने कहा भ्रष्ट नो एंट्री को बंद किया जाए-

इस बैठक के दौरान जिला मुख्यालय पर भारी वाहनों से संबंधित नो एंट्री व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से बंद करने का सुझाव आया। विधायक आलोक चतुर्वेदी ने कहा कि भारी वाहनों के प्रवेश के संबंध में पुलिस के द्वारा लगाई जा रही नो एंट्री व्यवस्था बनाने की बजाय बिगाड़ रही है। इस नो एंट्री व्यवस्था के माध्यम से जमकर भ्रष्टाचार फल-फूल रहा है। उन्होंने कलेक्टर और एएसपी से इस व्यवस्था को बंद करने की बात कही, जिसके बाद कलेक्टर ने एडीएम से आदेश जारी करने के निर्देश दिए।