Raj Express
www.rajexpress.co
6 माह के बच्चे को गर्म सलाख से दागा
6 माह के बच्चे को गर्म सलाख से दागा|Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

अमानवीयता की हद पार, 6 माह के बच्चे को गर्म सलाख से दागा

छतरपुर, मध्यप्रदेश : आमजनों में अंधविश्वास के प्रति अलख और जागरूकता जगाने के बाद भी मामले आ रहे हैं ऐसा ही हृदयविदारक मामला सामने आया है जिसने मानवता को शर्मसार किया है।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में फैली अंधविश्वास और खोखली कुप्रथाओं को दूर करने के लिए लोगों में जागरूकता जगाने के बाद भी मामले सामने आ रहे हैं इसके चलते ही प्रदेश के छतरपुर जिले से एक ऐसा ही हृदयविदारक मामला सामने आया है जिसने मानवता की सारी हदों को पार कर दिया है। 6 माह के बच्ची को सर्दी-जुकाम होने पर नीम हकीम ने इलाज के नाम पर लोहे की गर्म सलाखों से दाग दिया वहीं जब बच्चे की हालत में सुधार नहीं हुआ तो उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के बाद बच्ची स्वस्थ है।

क्या है मामला :

जानकारी के मुताबिक, यह मामला जिले के ईशानगर रोड स्थित गहरवार पंचायत के नवरिया गांव से सामने आया है जहां एक 6 महीने के बच्ची को सर्दी-जुकाम होने पर परिजनों द्वारा गांव के ही एक हकीम के पास ले जाया गया जिसने इलाज के नाम पर लोहे की गर्म सलाखों से बच्ची के शरीर में दाग दिया। जिसके बाद बच्ची की हालत में सुधार नहीं हुआ तो परिजनों बच्ची को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां इलाज के बाद डॉक्टर ने बच्ची के पेट को देखा तो हैरान हुए वही परिजनों को बताया कि, बच्ची को सलाखों से दागने से गहरे निशान बन गए हैं और इलाज कर दोबारा ऐसा ना करने की समझाइश दी।

परिजनों को दी समझाइश :

इस मामले में डॉ. लखन तिवारी ने परिजनों को बताया कि, बच्ची को निमोनिया है जो इलाज के साथ ठीक हो जाएगा, ज्यादा होने पर जान जा सकती थी। साथ ही समझाइश देते हुए कहा कि, बीमार होने पर डॉक्टर को दिखाना चाहिए ना कि किसी नीम हकीम को।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।